Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > मप्र सरकार ने 4000 बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा रोकी, वजह बताने से किया इनकार

मप्र सरकार ने 4000 बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा रोकी, वजह बताने से किया इनकार

मप्र सरकार ने 4000 बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा रोकी, वजह बताने से किया इनकार

भोपाल। वित्तीय संकट से निपटने को लेकर खर्चों में कटौती करने के लिए चल रही कवायद के बीच मध्यप्रदेश सरकार ने करीब 4,000 बुजुर्गों की तीर्थयात्रा पर रोक लगा दी है। ये सभी प्रदेश सरकार के तहत चलाए जा रहे 'मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना' के अंतर्गत 15 फरवरी से शुरू होने वाली पांच ट्रेनों में वैष्णो देवी, काशी, द्वारका और रामेश्वरम जाने वाले थे। एक अधिकारी ने शुक्रवार (14 फरवरी) को यह जानकारी दी।

प्रदेश सरकार के संबंधित विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया, "मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत चलने वाले 'पांच तीर्थ दर्शन ट्रेन' कार्यक्रम जो कि 15 फरवरी से शुरू होकर 2 मार्च तक चलना था, को अनिवार्य कारणों से रद्द कर दिया गया है।"

इस आदेश की कॉपी 13 जिला कलेक्टरों के साथ ही आईआरसीटीसी को भी भेजी गई है। राज्य सरकार की तीर्थ योजना का लाभ उठाने के लिए इन तीर्थयात्रियों को भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और मालवा-निमाड़ के साथ ही प्रदेश के अन्य जिलों से चुना गया था। विभाग के हालिया आदेश के मुताबिक, पांच में से पहली ट्रेन 15 फरवरी को 800 तीर्थयात्रियों के साथ वैष्णो देवी के लिए भोपाल से रवाना होने वाली थी।

'मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना' को साल 2012 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भाजपा सरकार के नेतृत्व में 60 साल और उससे अधिक उम्र के गैर-आयकर दाताओं के लिए शुरू किया था। योजना का लाभ उठाने के लिए महिलाओं की आयु 62 वर्ष तय की गई है।

Updated : 14 Feb 2020 3:53 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top