Home > राज्य > मध्यप्रदेश > भोपाल > मप्र में लंपी वायरस से 101 गोवंश ने तोड़ा दम, मुख्यमंत्री ने बुलाई आपात बैठक, दिए कड़े निर्देश

मप्र में लंपी वायरस से 101 गोवंश ने तोड़ा दम, मुख्यमंत्री ने बुलाई आपात बैठक, दिए कड़े निर्देश

मप्र में लंपी वायरस से 101 गोवंश ने तोड़ा दम, मुख्यमंत्री ने बुलाई आपात बैठक, दिए कड़े निर्देश
X

भोपाल। मध्यप्रदेश में लंपी वायरस गोवंश पर कहर बनकर टूटने लगा है। बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीमारी को लेकर इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। मुख्यमंत्री शिवराज ने अफसरों से कहा कि यह नहीं सोचना है कि लंपी गंभीर नहीं है, इसे बहुत गंभीरता से लेने की जरूरत है। जैसे हम कोविड के खिलाफ लड़े थे, वैसे ही गोवंश का जीवन बचाने के लिए हम इस लंपी वायरस से लड़ेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अफसरों ने जानकारी दी कि प्रदेश के 26 जिलों में 7686 गोवंश लंपी वायरस से प्रभावित हैं। 5432 गोवंश ठीक भी हो चुके हैं। अब तक 101 गोवंश की मौत हुई है। सबसे ज्यादा 17 गायों ने खंडवा में दम तोड़ा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के निर्देश पर लंपी वायरस पर कंट्रोल के लिए भोपाल में स्टेट लेवल का कंट्रोल रूम बनाया गया है। उधर, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी मध्यप्रदेश फैलते लंपी वायरस पर चिंता जाहिर की। उन्होंने सरकार पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि सरकार को गायों की नहीं, चीतों की चिंता है।

सीएम ने मंत्रालय में पशुपालन विभाग के अफसरों के साथ बैठक में मप्र के लंपी प्रभावित जिलों की जानकारी ली। सीएम ने पूछा- किस जिले में कितने जानवर इससे प्रभावित हुए हैं, अब तक कितने पशुओं के सैंपल में लंपी स्किन डिसीज की पुष्टि हुई है? सीएम ने गोशालाओं के पशुओं को इस वायरस से सुरक्षित रखने के संबंध में सवाल किया। अफसरों से मंदसौर, खंडवा, खरगोन, राजगढ़ सहित लंपी प्रभावित जिलों की जानकारी ली।

इन जिलों में दी लंपी वायरस ने दस्तक

रतलाम, नीमच, उज्जैन, मंदसौर, आगर मालवा, शाजापुर, खंडवा, इंदौर, झाबुआ, धार, बुरहानपुर, अलीराजपुर, खरगौन, बड़वानी, बैतूल, हरदा, राजगढ़, नर्मदापुरम, भिंड, मुरैना, श्योपुर, ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, गुना, अशोकनगर।

Updated : 21 Sep 2022 10:28 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top