Home > लाइफ स्टाइल > खाना-खजाना > बच्चों को मांसाहार और अल्कोहल तो नही परोस रहे हैं ?

बच्चों को मांसाहार और अल्कोहल तो नही परोस रहे हैं ?

खाने के पैकेट पर हरा निशान होने के बावजूद इन चीजों में मांसाहारी तत्व हो सकते हैं

बच्चों को मांसाहार और अल्कोहल तो नही परोस रहे हैं ?
X

आजकल बच्चे बिना जंक फूड के नहीं रहती है ये आधुनिकता और स्मार्टनेस का पर्याय कि जंक फूड को ज़िंदगी का हिस्सा बना लिया है।हम सभी किसी न किसी रूप मे डिब्बाबन्द, रेडी टू ईट खाद्य पदार्थों उपयोग कर ही रहे है। कभी हमे जल्दी होती है ,कभी चटपटा खाने का मन और कभी हम विज्ञापन के प्रलोभन में फस जाते हैं।बात चाहे नाश्ते में कॉर्नफ्लेक्स की हो,मल्टीविटामिन टेबलेट या विभिन्न पेय पदार्थों की जो हमे सेहतमंद रखने का दावा करते है या फिर दो मिनिट में झटपट तैयार मैग्गी की।पास्ता ,पिज़्ज़ा,बर्गर,चॉकलेट, चिप्स तमाम सारे आइटम्स इनके बिना हमारे बच्चों का दिन ही नहीं गुज़रता। क्या आप जानते है ये खाद्य पदार्थ आपकी और परिवार की सेहत पर कितना हानिकारक प्रभाव डालते है।

लेखिका - राधा शर्मा, शासकीय शिक्षक

लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये चिप्स आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर हानिकारक असर डालती हैं। पैकेट बंद चिप्स से न सिर्फ आपका बच्चा, मोटापे का शिकार हो सकता है बल्कि उसे कई और बीमारियां भी घेर सकती हैं। इसमें डाइबीटीज से लेकर कैंसर तक की बीमारी शामिल है। इतना ही नहीं ये चिप्स आपके बच्चे को हृदय से जुड़ी बीमारियां भी दे सकते हैं। विभिन्न शोधों में इन बातों की पुष्टि की गई है।

आजकल पैकेज्ड फूड आइटम को लेकर ई-कोडिंग को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार पैकेज्ड फूड के रैपर में लिखे ई-कोडिंग को डी-कोड करें तो मांसाहारी, अल्कोहल और हानिकारक तत्व शामिल होने से इंकार नहीं किया जा सकता है। अगर आप बाजार से पैकेज्ड नूडल्स, पाश्ता, पिज्जा, बिस्किट, चिप्स, चॉकलेट, सूप, च्यूइंग गम इत्यादि चीजें खाने के लिए खरीद रहे हैं तो इनके रैपर पर लिखे इंग्रीडिएंट्स में ई-कोडिंग की भी एक बार जांच कर लें, चूंकि खाने के पैकेट पर हरा निशान होने के बावजूद इन चीजों में मांसाहारी तत्व हो सकते हैं।

शाकाहारियों से जुड़ी प्रमुख बेवसाइट veggieglobal.com के अनुसार इन ई-कोडिंग में जानवरों की चर्बी इत्यादि की इस्तेमाल होता है। बेवसाइट की जुटाई जानकारियों और पड़ताल के मुताबिक यह ई-कोड्स जानवरों के अलग-अलग अंगों से प्राप्त किए हो सकते हैं।

इन कोड्स में होते हैं ये तत्व


E 322 - गाय का मांस

E 422 - अल्कोहल तत्व

E 442 - अल्कोहल तत्व ओर केमिकल

E 471 - गाय का मास ओर अलकोहल तत्व

E 476 - अलकोहल तत्व

E 481 - गाय और सुअर के मांस के संघटक

E 627 - घातक केमिकल

E 472 - गाय + सुअर + बकरी के मांस के संघटक

E 631 सुअर की चर्बी का तेल

किस प्रोडक्ट पर क्या होता है कोड

- बिस्किट : E 471, E 322, E 481

- टॉफी : E 471, E 481

- मैंगो जूस : E 471, E 322, E 481

- चॉकलेट : E 471, E 476, E 442

- मिल्क पाउडर : E 471, E 322

- नूडल्स : E 631, E 627

- पिज्जा : E-631

Updated : 25 Jan 2023 11:08 AM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top