Top
Home > Lead Story > जन्मभूमि पर राम मन्दिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करे सरकार : भैय्याजी जोशी

जन्मभूमि पर राम मन्दिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करे सरकार : भैय्याजी जोशी

जन्मभूमि पर राम मन्दिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करे सरकार : भैय्याजी जोशी
X

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी ने रविवार को रामलीला मैदान में आयोजित विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की धर्मसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सरकार में बैठे लोगों को जनता की भावनाओं को समझते हुए राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करना चाहिए। केंद्र सरकार में बैठे लोग राम मन्दिर का संकल्प लेकर सरकार में आए थे, अब उन्हें उस संकल्प को पूरा करना चाहिए।

सुरेश भैय्याजी जोशी ने कहा कि देश ने तीन दशकों से राम जन्मभूमि का आंदोलन देखा है। तीस साल बाद इसी आंदोलन का पुनर्जागरण हुआ। आम जनता और युवाओं के मन में यह उम्मीद है कि जब तक राम मंदिर नहीं बनेगा तब तक यह आंदोलन चलता रहेगा। हम सदैव शांति के पक्षधर रहे हैं। हमारे देश में किसी से संघर्ष नहीं, बल्कि विदेशी सोच एवं आक्रान्ता से संघर्ष है। उन्होंने कहा कि 2010 में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने फैसले में कुछ कमी छोड़ी है जिसको पूरा करने के लिए हम सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध करते हैं। हमारा स्वप्न आक्रांताओं के निशान को मिटाना है। सभी लोग देश में रामराज्य चाहते हैं और यह सम्प्रदाय का नहीं, बल्कि जनहित का शासन है।

उन्होंने कहा कि जहां न्याय व्यवस्था से विश्वास उठता है वहां विकास नहीं हो सकता। लोकतंत्र में न्याय और सरकार के प्रति विश्वास बना रहना चाहिए। सरकार का भी संकल्प है और उन्हें बिना संकोच के इस दिशा में आगे बढ़ना चाहिए। विकल्प खुले हैं, संविधान, न्याय और संसद एक तरीका है। सरकार रामभक्तों की मांग पूरी करे।

सुरेश भैय्याजी जोशी ने कहा कि भगवान राम अभी अस्थायी निवास पर हैं। क्या रामभक्त इसे देखते रहेंगे ? हम अपने आराध्य का दर्शन भव्य राम मन्दिर में करना चाहते हैं। यह भविष्य का और भविष्य के रामराज्य का आधार बनेगा। सारे विश्व से अनुरोध है कि इसे संकीर्णता से न देखें।

Updated : 2018-12-09T21:16:46+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top