Top
Home > Lead Story > देश की आर्थिक वृद्धि थोड़ी धीमी हुई है लेकिन ये मंदी नहीं है न होगी : निर्मला सीतारमण

देश की आर्थिक वृद्धि थोड़ी धीमी हुई है लेकिन ये मंदी नहीं है न होगी : निर्मला सीतारमण

देश की आर्थिक वृद्धि थोड़ी धीमी हुई है लेकिन ये मंदी नहीं है न होगी : निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को स्वीकार किया कि आर्थिक वृद्धि थोड़ी धीमी हो सकती है, लेकिन इसे मंदी कहने से इनकार कर दिया और फिर जोर देकर कहा कि देश कभी भी मंदी का सामना नहीं करेगा।

सीतारमण ने राज्यसभा को दिए सवालों के जवाब में कहा, "अगर आप अर्थव्यवस्था को समझदारी की नजर से देख रहे हैं, तो आप देख सकते हैं कि विकास में कमी आई है, लेकिन यह अभी तक मंदी नहीं है, यह मंदी नहीं होगी।" अर्थव्यवस्था में विकास को पुनर्जीवित करने के लिए उठाए गए बत्तीस कदम अच्छे नतीजे दे रहे हैं। सीतारमण ने कहा कि देश की वास्तविक जीडीपी ग्रोथ 2009 से 2014 के बीच 6.4 प्रतिशत रही लेकिन 2014 से 2019 के बीच ये 7.5 प्रतिशत हो गई। सीतारमण के इस जवाब के बाद विपक्ष के सांसदों ने सदन से वॉकआउट कर लिया।

इस महीने की शुरुआत में, मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने यह कहते हुए कि सकल घरेलू उत्पाद में मंदी पहले की अपेक्षा अधिक लंबी है, भारत के आर्थिक विकास के अनुमान को चालू वर्ष के लिए घटाकर 5.6 प्रतिशत कर दिया था, जबकि पिछला अनुमान 5.8 प्रतिशत था। सितंबर में, पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने चेतावनी दी थी कि "मोदी सरकार द्वारा चौतरफा कुप्रबंधन" के कारण अर्थव्यवस्था लंबे समय तक मंदी के बीच में रही, और यह अभी तक जल्दबाजी में लागू किए गए माल और सेवा कर (GST) जैसे "मैन मेड बलंडर" से नहीं उबर पाई है।

Updated : 27 Nov 2019 4:27 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top