Top
Home > Lead Story > ट्रिपल तलाक पर विपक्ष ने दिया यह तर्क

ट्रिपल तलाक पर विपक्ष ने दिया यह तर्क

ट्रिपल तलाक पर विपक्ष ने दिया यह तर्क
X

नई दिल्ली। लोकसभा में आज कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तीन तलाक बिल को सदन के पटल पर रखा। कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी पार्टियों ने तीन तलाक बिल को सदन के पटल पर रखे जाने जमकर विरोध जताया। कांग्रेस पार्टी की तरफ से सांसद शशि थरूर ने बिल के पेश करने पर विरोध जताते हुए कहा कि सरकार की ओर से जो बिल लाया जा रहा है, वह संविधान बिलकुल खिलाफ है।

शशि थरूर ने सदन में कहा कि मैं इस बिल के पेश करने का विरोध करता हूं। उन्होंने कहा कि मैं तीन तलाक का समर्थन नहीं करता हूं लेकिन इस बिल के विरोध में हूं। थरूर बोले कि ये बिल संविधान के खिलाफ है, इसमें सिविल और क्रिमिनल कानून को मिला दिया गया है। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि अगर सरकार की नजर में तलाक देकर पत्नी को छोड़ देना गुनाह है, तो ये सिर्फ मुस्लिम समुदाय तक ही सीमित क्यों है। उन्होंने कहा कि क्यों ना इस कानून को सभी समुदाय के लिए लागू किया जाना चाहिए। कांग्रेस की ओर से कहा गया कि सरकार इस बिल के जरिए मुस्लिम महिलाओं को फायदा नहीं पहुंचा रही है बल्कि सिर्फ मुस्लिम पुरुषों को ही सजा देना चाहती है।

शशि थरूर ने तर्क रखा कि जब सुप्रीम कोर्ट ने ही तीन तलाक को गैरकानूनी घोषित कर दिया है, तो सरकार सजा किस बात देना चाहती है। उन्होंने कहा कि इस बिल का किसी भी तरह गलत इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें मुस्लिम पुरुषों को तलाक देने पर तीन साल की सजा की बात कही है, लेकिन इन तीन साल में महिलाओं और बच्चों का ध्यान कौन रखेगा। इसका भी ख्याल रखना आवश्यक है। इस बिल को स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजा जाए और इस पर सही तरीके से चर्चा होनी चाहिए। सभी तरह की राय पर विचार किया जाए।

Updated : 2019-06-21T18:13:21+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top