Top
Home > Lead Story > जगतीआल बस हादसा : बस खाई में जा गिरी, 45 की मौत

जगतीआल बस हादसा : बस खाई में जा गिरी, 45 की मौत

जगतीआल बस हादसा : बस खाई में जा गिरी, 45 की मौत
X

जगतीआल। तेलंगाना के जगतीआल जिले के कुंडगट्टू गांव के पास मंगलवार की दोपहर राज्य परिवहन निगम की एक बस खाई में गिर गई। हादसे में 41 यात्रियों की मौत हो गई। जिसमें ज्यादातर महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। बताया जाता है कि बस में 65 लोग सवार थे। घायलों को करीमनगर जिला केंद्र के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि गंभीर रूप से घायल यात्रियों को हैदराबाद अस्पताल में भेज दिया गया है। सूचना पर जिले के एसपी पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। साथ ही राहत व बचाव कार्य किया जा रहा है। जिला प्रशासन ने अभी 38 मृतकों की सूची जारी की है और शेष मृतकों की पहचान की जा रही है | मरने वालों की संख्या बढ़ने की भी सम्भावना है क्योंकि कई की स्थिति काफी गंभीर बनी है|

जिला प्रशासन ने जारी की 38 मृतकों की सूची

1. नाम आल मोनिका (24) शनिवार पेठ, 2 बैरी रित्विक (3) रामसागर, 3 बोलों लक्ष्मी (50) हिम्मतराव पेट, 4 चला लक्ष्मी (45) हिम्मतराव पेट, 5 घंडी लक्ष्मी साथ शनिवार पेठ, 6 डब्बू अम्मा (50), 7 बंडू पल्ली चिल्का (76), 8 गोली अम्मा (44) शनिवार पेठ, 9 तिरुपति वेंकटरमन (56), 10 यल्लम्मा कंकणआला (64), 11 कोटवा लांबा (65), 12.बंधन लसावि 65

13 भोलाराम बाबू (54) 14 लाइसेंटी चंद्र (45) 15 वेंदीकला वेंदवा 16 इंदिरा कला सुमति (30) 17 राजमां (56) 18 उत्तम नंदिनी 19 अनिल मलयाला (19), 20 छिंनवा राजुला (60), 21 चमकुरा मल्लावां (28), 22 वरलक्ष्मी शैलेंद्र (28), 23 सुनंदा कुंभला (45), 24 गुडीसे राजमा (50), 25.सत्तावा पंढरि (75), 26 दासरी सुशीला(55), 27 रागला आनंदम(55), 28 मदन नववा (75), 29 हेमावती(30), 30 पीदिगु राज्यववा (30) डब्बू टीममैय पल्ली, 31 चरला गंगावा (75), 32 ऑडीनाला ल्लसेमवा, 33 काशीराम (35), 34 मल्लावा (55), 35 गोलकुंडा लक्ष्मीअव्वा (50), 36 गोलकुंडा देवा आउवा(63), 37 कुंडा अरुणा साई(05), 38 बंगाली मदननवा(65)।

राज्य सरकार ने मृतकों को पांच-पांच लाख का मुआवजा घोषित कर दिया है। तेलंगाना राज्य के वित्त मंत्री विठला राजेंद्र और परिवहन मंत्री महेंद्र रेड्डी घटनास्थल पर पहुंचे हैं। मृतकों का शव करीमनगर एरिया हॉस्पिटल और जगतीआल एरिया हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। बस से लोग कुंडा गट्टू आंजनेय स्वामी मंदिर में दर्शन करने गए थे और वहां से वापस जगतीआल लौट रहे थे। मृतकों में ज्यादातर लोग शनिवारपेटा ,रामनगर और हिम्मत रावपेट जो पेड्डापल्ली और जगतीआल जिले के रहने वाले हैं। वहीं बस का ड्राइवर और कंडक्टर की हालत सर्वाधिक गंभीर स्थिति में हैं।

उल्लेखनीय है कि कुंडा गट्टू का आंजनेय स्वामी मंदिर 300 साल पुराना भगवान हनुमान का है और इस मंदिर में भगवान बालाजी और लक्ष्मी के मंदिर भी हैं जो 160 साल पूर्व निर्माण किया गया था। मंगलवार शुभ दिन माना जाता है और ग्रामीण श्रद्धालु काफी मात्रा में इस दिन यहां आते हैं।

जगतीआल जिले के जिलाधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार 41 मृतकों में से 38 की पहचान कर ली गई है जबकि अन्य की पहचान की जा रही है। बस हादसे में घटनास्थल 11 लोगों की मृत्यु हो गई जबकि इलाज के दौरान 14 लोगों ने दम तोड़ दिया। सभी की पहचान हो जाने के बाद ही मृतकों की सूची आधिकारिक रूप से घोषित की जाएगी। तेलंगाना राज्य के वित्त मंत्री विठला राजेंद्र और परिवहन मंत्री महेंद्र रेड्डी ने मृतक के परिवारों के प्रति संवेदना जताई है। जगतीआल अस्पताल में गंभीर रूप से घायल लोगों को देखने व इलाज करने के लिए न तो समुचित व्यवस्था थी और न ही पर्याप्त संसाधन थे | अस्पताल में चिकित्सक व नर्सों की कमी भी थी जिसके कारण प्रशासन को काफी नाराजगी झेलनी पड़ी |

प्राप्त जानकारी के अनुसार दुर्घटनाग्रस्त बस ने खाई में गिरते समय तीन पलटी मारी। बस के पलटी मारते ही बस के अंदर से महिला और बच्चे बाहर फेंका गए | कोई स्टीयरिंग पर तो कोई चक्के के नीचे आ गया। बस के गियर की राड भी कहां गायब हो गयी पता नहीं चला। बस यात्रियों में तीन परिवारों ने अपने ही चार सदस्य को खोया है |

जब इतिहास जिले के कुंडा गट्टू घाट रोड पर हुई हादसे मैं अब तक पहन 45 लोगों की मृत्यु होने की आधिकारिक पुष्टि की गई। हादसे के शिकार सारे ग्रामीण प्रांतों से हैं। मामले की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री के बेटे और नगर पालिका मंत्री तारक रामाराव करीमनगर के घटनास्थल पर पहुंचे।



Updated : 2018-09-12T00:25:28+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top