Top
Home > Lead Story > पोस्ट ऑफिस बने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, बचत खातों पर मिलेगा 5.5 % ब्याज

पोस्ट ऑफिस बने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, बचत खातों पर मिलेगा 5.5 % ब्याज

पोस्ट ऑफिस बने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, बचत खातों पर  मिलेगा 5.5 % ब्याज
X
Image Credit : ANI Tweet

नई दिल्ली। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक सेवा का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को नई दिल्ली में शुभारंभ किया | यह लॉन्चिंग एक साथ पूरे देश में की गई।

उल्लेखनीय है कि 'आपका बैंक आपके द्वार' मिशन के तहत इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक पूरे देश में घर-घर बैंकिंग सेवाएं पहुंचाने में सक्षम होगा। आईपीपीबी के तहत गांव के लोग बचत खाता, चालू खाता, मनी ट्रांसफर और डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के अलावा बिल, यूटिलिटी एवं व्यापारिक भुगतान जैसी अनेक सेवाएं प्राप्त कर सकेंगे। इसके साथ ही सार्वजनिक क्षेत्र की बैंको की तुलना में बचत खातों पर अधिकतम 5.5 % ब्याज मिलेगा ।

तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह एक नई एवं अभूतपूर्व व्यवस्था की शुरुआत है। इससे एक-एक भारतीय के घर तक बैंक पहुंचाने का मार्ग खुल गया है। इससे देश के अर्थतंत्र और समाज व्यवस्था में एक बड़ा बदलाव लाया जा सकता है तथा गांव और गरीब के घर तक बैंक पहुंचने का उनकी सरकार का सपना पूरा हो सकता है।

उन्होंने भारतीय डाक कर्मचारियों की सराहना करते हुए कहा कि देश में सरकारों के प्रति लोगों का विश्वास रहा हो या न रहा हो लेकिन डाकिये के प्रति कभी भी विश्वास डगमगाया नहीं है। इनकी छवि इतनी साफ रही है कि कभी चोर लुटेरों ने भी इन्हें परेशान नहीं किया। डाकिया समय बताता था, लोगों के मनोभाव से जुड़ा था और फिल्मों, लोककथाओं का हिस्सा रहा है। अब डाकिया बैंक एक बैंक बन गया है। डाकिया एक डिजिटल शिक्षक के तौर पर काम करने जा रहा है। इसे देखते हुए उनकी सरकार ने डाक कर्मचारियों के वेतन भत्तों से जुड़ी मांग स्वीकार कर ली है। पहले डाक कर्मचारी को भत्ते के तौर पर दो से चार हजार मिलते थे, उनकी सरकार ने इन्हें 10 से 14 हजार कर दिया है। इसके अलावा महिलाओं को 180 दिनों का मातृत्व अवकाश भी देने की घोषणा की है।

इस अवसर पर संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ग्रामीण इलाकों में डाक विभाग के जरिये आधुनिक बैंकिंग सेवाएं सबसे सरल माध्यम से मुहैया करने का एक माध्यम है। 'आपका बैंक आपके द्वार' के नाम से यह बैंक पूरी तरह से पेपरलेस (कागज मुक्त) होगा।

- इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक बैंक की 650 शाखाएं होंगी और 3,250 सेवा केन्द्र होंगे।

- देश के एक लाख 55 हजार डाक सेवा केन्द्रों से इसे जोड़ा जाएगा।

- इसके माध्यम से बैंकिंग सेवाओं से अछूता ग्रामीण क्षेत्र आधुनिक डिजिटल सेवाओं से जुड़ेगा।

- 3 लाख डाक विभाग के कर्मचारी बैंकिंग एजेंट के तौर पर काम करेंगे ।

- इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक पूरी तरह से कागज मुक्त सुविधा प्रदान करेगा

- बैंक में ग्राहक को एक क्यूआर कोड दिया जाएगा और वह अपनी बायोमेट्रिक जानकारी के माध्यम से बैंक की सेवाएं ले सकेगा।

- बीमा और ऋण संबंधी सेवाएं भी अन्य बैंकों जैसे पंजाब नेशनल बैंक के जरिए दी जाएंगी।

उल्लेखनीय है कि इस पोस्ट बैंक सेवा के लिए तकनीकी 800 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है। बैंक बचत खाते पर 5.5 प्रतिशत ब्याज दर देगा। पोस्ट पेमेंट बैंक होने के चलते बैंक के बचत एवं चालू खाता दोनों में एक समय में एक लाख से ज्यादा रुपए नहीं रखे जा सकेंगे। डाक विभाग की अन्य बचत संबंधी सेवाओं को भी इससे जोड़ा जाएगा। एक लाख से ज्यादा रकम अपने आप ग्राहक के अन्य बचत खातों से जुड़ जाएगी।



Updated : 2018-09-02T01:40:49+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top