Top
Home > Lead Story > पेट्रोल-डीजल की कीमतों के विरोध में कांग्रेस सहित 21 दलों ने सोमवार को बुलाया भारत बंद

पेट्रोल-डीजल की कीमतों के विरोध में कांग्रेस सहित 21 दलों ने सोमवार को बुलाया भारत बंद

पेट्रोल-डीजल की कीमतों के विरोध में कांग्रेस सहित 21 दलों ने सोमवार को बुलाया भारत बंद
X

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि के विरोध में कांग्रेस ने सोमवार को देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया है। पार्टी ने सरकार पर महंगाई रोकने का दबाव बनाने के लिए सभी विपक्षी दलों से इस बंद में शामिल होकर विपक्षी एकता को मजबूत करने की अपील की है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने रविवार को यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि और रुपये के अवमूल्यन के विरोध में कांग्रेस ने सोमवार को देशव्यापी बंद का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सहित कुल 21 दलों ने देशव्यापी इस बंद का समर्थन किया है। इसके अलावा उन्होंने एक बार फिर से सभी विपक्षी दलों से इस बंद में शामिल होने की अपील की।

बंद के दौरान होने वाली हिंसक घटनाओं पर नाखुशी जाहिर करते हुए उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रस्तावित बंद को हिंसा मुक्त रखने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि बंद के दौरान कार्यकर्ता विशेष रूप से यह याद रखें कि वह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पार्टी के सदस्य हैं। ऐसे में किसी भी प्रकार की हिंसा में हम लोगों को संलिप्त नहीं होना है।

माकन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि डॉलर की कीमत 60 रुपये पर पहुंचने पर मोदी कहते थे कि रुपया आईसीयू में आ गया है। अब तो डॉलर 72 रुपये पर पहुंच गया है। ऐसे में स्थिति की चिंता कौन करेगा।

पेट्रोल और डीजल को वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के दायरे में लाने की मांग करते हुए माकन ने कहा कि केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क के माध्यम से पिछले चार वर्षों में 11 लाख करोड़ रुपये कमाए हैं। सरकार के खजाने को भरने के लिए आम आदमी से यह पैसा लिया जाता है। उन्होंने कहा कि इससे महंगाई पर दुष्प्रभाव पढ़ रहा है और महंगाई बढ़ रही है। सरकार से मांग करते हैं कि पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाये।

Updated : 2018-09-10T01:41:07+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top