Top
Home > Lead Story > देश में बड़े हमले की साजिश को एनआईए ने किया नाकाम, आईएस के 10 आतंकी गिरफ्तार

देश में बड़े हमले की साजिश को एनआईए ने किया नाकाम, आईएस के 10 आतंकी गिरफ्तार

रॉकेट लांचर और विस्फोटक बरामद, निशाने पर था दिल्ली पुलिस मुख्यालय

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने देश में बड़े हमले की साजिश को नाकाम कर दिया है। उसने दिल्ली और उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ 17 जगहों पर छापेमारी की और तलाशी ली है। डेढ़ सौ से ज्यादा अधिकारियों द्वारा अंजाम दी गई इस कार्रवाई के दौरान एनआईए ने आईएसआईएस के 10 सक्रिय कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में पता चला है कि इनके निशाने पर दिल्ली पुलिस मुख्यालय और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) का कार्यालय भी था। छापेमारी के दौरान इनके कब्जे से 100 से ज्यादा मोबाइल फोन, भारी मात्रा में विस्फोटक सामान और देसी रॉकेट लॉन्चर जैसी चीजें मिली हैं।

एनआईए के प्रवक्ता आलोक मित्तल ने इस बारे में पत्रकारों को बताया कि एजेंसी ने टेरर फंडिंग के एक मामले में आज सुबह से ही दिल्ली और उत्तर प्रदेश के 17 स्थानों पर तलाशी ली। इस दौरान आईएसआईएस के 10 सक्रिय कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। ये सभी आरोपित आतंकी संगठन आईएसआईएस से प्रेरित 'हरकत-उल-हरब-ए-इस्लाम' नामक संगठन को मुखौटा के रूप में प्रयोग करके आगामी 26 जनवरी को दिल्ली व अन्य जगहों पर वे बड़े हमले की तैयारी कर रहे थे। इस तलाशी अभियान में दिल्ली पुलिस व उत्तर प्रदेश पुलिस ने एनआईए की पूरी मदद की है।

एजेंसी को जानकारी मिली थी कि उक्त आतंकी संगठन के कार्यकर्ता संगठन के सरगना पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अमरोहा निवासी मुफ्ती मोहम्मद सुहैल के नेतृत्व में दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कई ठिकानों पर हमला करने की तैयारी कर रहे हैं।

एनआईए की टीम को जांच-पड़ताल के दौरान पता चला कि सुहैल अपने कई साथियों की मदद से हथियार व धन इकट्ठा कर रहा है। इसी आधार पर एनआईए ने दिल्ली पुलिस व उत्तर प्रदेश पुलिस की मदद से दिल्ली के जाफराबाद और सीलमपुर इलाके में छह तथा उत्तर प्रदेश के अमरोहा में छह, लखनऊ और हापुड़ में दो-दो तथा मेरठ में एक (कुल 17) ठिकानों पर छापेमारी की।

छापेमारी के दौरान 25 किलोग्राम विस्फोटक (पोटाशियम नाइट्रेट, अमोनियम नाइट्रेट, सल्फर, 12 पिस्टल, 150 गोली, एक देसी रॉकेट लांचर, 112 घड़ी, 120 मोबाइल फोन व बम बनाने में प्रयुक्त होने वाले कई पदार्थ बरामद हुए। इस दौरान सुहैल के ठिकाने से 7.5 लाख रुपये की नकदी भी बरामद हुई है। इसके साथ ही 134 सिम कार्ड, तीन लैपटॉप, चाकू, तलवार व आईएसआईएस से जुड़ा साहित्य भी बरामद किया गया है।

इस मामले में एनआईए ने अमरोहा के मुफ्ती मोहम्मद सुहैल उर्फ हजरत (29), सईद उर्फ़ सैयद (28), रईस अहमद, मोहम्मद इरशाद, दिल्ली के जाफराबाद के अनस युनूस (24), रसीद जफर रक (23), जुबेर मलिक (20), जैद मालिक (22), दिल्ली के सीलमपुर से मोहम्मद आजम (35) तथा हापुड़ से शाकिब इफ्तेकार (26) को गिरफ्तार किया है।

सुहैल के बारे में एनआईए ने कहा है कि वह अमरोहा के मदरसा में मुफ्ती के रूप में काम करता रहा है। अनस युनूस नोएडा के एक कालेज में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है। जुबेर मलिक दिल्ली विश्वविद्यालय का विद्यार्थी है। हालांकि एनआईए के मुताबिक इस मामले में कुछ गिरफ्तारी भी की जा सकती हैं। अभी आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। इन्हें गुरुवार को दिल्ली के पटियाला हाउस स्थित एनआईए की विशेष अदालत में पेश किया जायेगा।

Updated : 2018-12-27T03:00:46+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top