Top
Home > Lead Story > #नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की, मथुरा में भीड़ का रिकार्ड टूटा

#नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की, मथुरा में भीड़ का रिकार्ड टूटा

#नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की, मथुरा में भीड़ का रिकार्ड टूटा
X

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सोमवार को कृष्ण जन्माष्टमी की धूम मची है। राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के सभी प्रमुख नगरों में भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव को लेकर उल्लास का माहौल बना रहा। बता दें कि कृष्ण नगरी मथुरा में तो भीड़ का रिकार्ड टूट गया है। पूरे शहर में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा है। श्रीकृष्ण जन्मस्थली पर तो शाम करीब सात बजे तक 20 लाख लोग पहुंच चुके थे। लेकिन उनके दर्शन के लिए मंदिरों के बाहर श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगी हुई हैं।



राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शाम होते ही प्रदेश भर के मंदिर रोशनी से जगमगा उठे हैं। मंदिरों के अलावा थानों, पुलिस लाइंस और जेलों को भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर विशेष रुप से सजाया गया है। लखनऊ के अलावा मथुरा, आगरा, वाराणसी, इलाहाबाद, मेरठ, बरेली और कानपुर समेत प्रदेश के सभी नगरों में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बड़े उत्साह के साथ मनाया जा रहा है।

मंदिरों के अलावा पुलिस थानों और जेलों में कन्हैया संग राधा रानी की मनोहारी झांकियां सजायी गयी हैं। जगह - जगह मटकी फोड़ने का भी आयोजन किया गया। इसके लिए श्री कृष्ण की टोलियां सज-धज कर दिन भर व्यस्त रहीं।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर ब्रज क्षेत्र का दृश्य बड़ा ही मनोरम हो जाता है। मथुरा में कृष्ण जन्मस्थान पर तो देश-विदेश से लाखों लोग उनके घर पहुंच रहे हैं। श्रद्धालुओं की भीड़ वहां पिछले कई सालों के रिकॉर्ड तोड़ दिये हैं। पूरा मथुरा-वृंदावन क्षेत्र राधे-राधे की गूंज से गुंजायमान हो चुका है। सभी कान्हा के दर्शन को लालायित हैं। बच्चा, बूढ़े, महिलाएं और युवा हर कोई यहां कन्हैया के प्रेम में डूबकर बंसी वाले की जय जयकार कर रहा है। ब्रजवासियों ने भी श्रद्धालुओं की सेवा में जगह-जगह भंडारे का आयोजन किया है। इन भंडारों में व्रत रखने वालों का भी ध्यान रखा गया है।

राजधानी लखनऊ के सभी मंदिरों में कन्हैया की मनोहारी झांकियां सजायी गयी हैं। इस्कान मंदिर में भगवान के दर्शन को हजारों लोग पहुंच चुके हैं। लखनऊ स्थित नरही के सीता राम मंदिर पर भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। बीरबल साहनी मार्ग स्थित श्री खाटू श्याम मन्दिर में श्याम बाबा के श्रंगार के लिये फूल बंगलौर से मंगाये गये हैं।

बाबा विश्वनाथ की नगरी वाराणसी लगातार दूसरे दिन सोमवार को भी कान्हामय रही। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर चहुंओर श्रद्धा, उल्लास का माहौल रहा। 'हर-हर महादेव शंभो काशी विश्वनाथ गंगे का परम्परागत उद्घोष की जगह मधुराष्टकमं की पंक्तियां 'अधरम मधुरं, वदनं मधुरं, नयनं मधुरं, हसितं मधुरंध् ह्रदयं मधुरं गमनं मधुरं, मधुराधि पते रखिलं मधुरं... मुखर हो रही है।

इलाहाबाद में जन्माष्टमी के मौके पर पर इस्कॉन की ओर से शोभायात्रा निकाली गई। उधर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कर्मभूमि गोरखपुर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पर्व पर लोगों में गलब का उत्साह है। मुख्यमंत्री योगी ने गोरखनाथ मंदिर में कान्हा को झूला झुलाया।

प्रदेश में श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व दो दिन मनाया जा रहा है। अष्टमी तिथि के साथ रोहिणी नक्षत्र के योग में कुछ लोगों ने रविवार को ही भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया। लेकिन, सप्तमी बेधित अष्टमी के चलते अधिकतर श्रद्धालुओं ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का व्रत सोमवार को ही रखा और आज रात ही भगवान का प्राकाट्योत्सव मना रहे हैं।



Updated : 2018-09-04T19:50:48+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top