Top
Home > Lead Story > निर्भया के दोषी मुकेश का गंभीर आरोप - तिहाड़ में सेक्स को किया मजबूर

निर्भया के दोषी मुकेश का गंभीर आरोप - तिहाड़ में सेक्स को किया मजबूर

निर्भया के दोषी मुकेश का गंभीर आरोप - तिहाड़ में सेक्स को किया मजबूर

नई दिल्ली। निर्भया के गुनहगार मुकेश सिंह की वकील अंजना प्रकाश ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि उनेक मुवक्किल का तिहाड़ जेल में यौन उत्पीड़न हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुकेश को इस मामले में दूसरे दोषी अक्षय के साथ यौन संबंध के लिए मजबूर किया गया।

राष्ट्रपति की ओर से दया याचिका खारिज किए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में मुकेश की जूडिशल रिव्यू पिटिशन पर सुनवाई के दौरान उसकी वकील ने यह सनसनीखेज दावा किया। जस्टिस आर भानुमति की अगुवाई में तीन न्यायधीशों की बेंच इसकी सुनवाई कर रही है। वरिष्ठ वकील अंजना प्रकाश के जरिए मुकेश ने शीर्ष अदालत से कहा, 'कोर्ट ने मुझे सिर्फ मौत की सजा सुनाई है। क्या मेरा रेप किए जाने की सजा सुनाई गई थी?'

अंजना प्रकाश ने यह दावा भी किया कि 2012 के इस गैंगरेप केस में अन्य दोषी राम सिंह की जेल में हत्या कर दी गई थी लेकिन इसे आत्महत्या का मामला बताकर बंद कर दिया गया। गौरतलब है कि राम सिंह मार्च 2013 में जेल के भीतर फंदे पर लटका हुआ मिला था।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने मुकेश सिंह के वकील की दलीलों का विरोध करते हुए कहा कि दोषी के साथ यौन उत्पीड़न और दुर्व्यवहार का आरोप दया का आधार नहीं हो सकता है।

सुप्रीम कोर्ट में मुकेश के वकील ने राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका खारिज होने पर कहा कि आपको हर कदम पर अपना दिमाग लगाना होगा। आप किसी के जीवन के साथ खेल रहे हैं। जेल से आने के बाद मुकेश ने कहा कि मुझे बेरहमी से पीटा गया। वकील अंजना प्रकाश ने कहा कि दोषी मुकेश को जेल के भीतर यौन प्रताड़ना दी गई। इसके अलावा सोलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि - कभी-कभी, मौत के सजा पाने वाले का स्वास्थ्य और स्थिति इतनी बिगड़ चुकी होती है कि उन्हें मृत्युदंड नहीं दिया जा सकता है, लेकिन इस मामले में, मुकेश की स्थिति बिलकुल ठीक है।

इससे पहले कोर्ट ने चार में से एक दोषी पवन के पिता की उस याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें इकलौते गवाह की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया गया था। कोर्ट ने सभी दोषियों को एक फरवरी का डेथ वारंट जारी किया है। फांसी की सजा को टालने के लिए सभी आरोपी एक-एक कर कोर्ट में कोई न कोई याचिका दाखिल कर रहे हैं।

निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को एक फरवरी को दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी की सजा दी जाएगी। इसे देखते हुए जेल प्रशासन विशेष निगरानी बरत रहा है। चारों दोषियों मुकेश सिंह, पवन कुमार गुप्ता, अक्षय ठाकुर और विनय शर्मा को तिहाड़ के जेल नंबर तीन में 16 जनवरी को लाया गया, जहां उन्हें फांसी दी जानी है। चारों दोषियों पर फिलहाल विशेष निगरानी बरती जा रही है।

Updated : 2020-01-28T15:41:21+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top