Top
Home > Lead Story > पटियाला कोर्ट ने की आरोपित आशीष पांडे की जमानत याचिका खारिज, भेजा जेल

पटियाला कोर्ट ने की आरोपित आशीष पांडे की जमानत याचिका खारिज, भेजा जेल

पटियाला कोर्ट ने की आरोपित आशीष पांडे की जमानत याचिका खारिज, भेजा जेल
X

नई दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। दिल्ली के हयात होटल में खुलेआम पिस्तौल लहराने वाले आशीष पांडे को एक दिन की रिमांड के बाद दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया। यहां आशीष के वकील ने जमानत याचिका दाखिल की जिस पर दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद कोर्ट ने याचिका को खारिज कर दिया है। एक दिन की रिमांड खत्म होने के बाद कोर्ट ने आशीष को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

आपको बता दें कि पांच दिन की आंख-मिचौली के बाद गुरुवार को पटियाला हाउस अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। आरोपी की तरफ से अदालत में याचिका दायर कर आत्मसमर्पण की इच्छा जाहिर की गई थी। इसके बाद न्यायिक अधिकारी की उपस्थिति में आरके पुरम थाना पुलिस ने आरोपी आशीष पांडे को हिरासत में ले लिया था। पुलिस की मांग पर अदालत ने आशीष पांडे को 24 घंटे की रिमांड पर सौंप दिया था।

पटियाला हाउस स्थित मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट नीतू शर्मा की अदालत में दिल्ली पुलिस की तरफ से आरोपी आशीष पांडे को चार दिन की रिमांड पर देने की मांग की गई लेकिन अदालत ने आरोपी पांडे को महज एक दिन के लिए रिमांड पर भेज दिया था। अदालत ने अपने आदेश में कहा था कि आरोपी से पिस्तौल के लाइसेंस को लेकर पूछताछ व अन्य तथ्यों को जुटाने के लिए एक दिन का समय पर्याप्त है।

पुलिस ने कहा कि आशीष पांडेय के पास लाइसेंसी हथियार था या नहीं और उसके साथ कार में कौन-कौन मौजूद था, हमें हर पहलू के बारे में पूछताछ करनी है। हमें हथियार की बरामदगी के लिए उसे लखनऊ लेकर जाना होगा।

इसका विरोध करते हुए आशीष पांडेय के वकील एसपी त्रिपाठी ने कहा कि एफआईआर देर से दर्ज की गई है। हम पुलिस हिरासत की मांग का विरोध करते हैं। अगर आशीष के पास लाइसेंसी हथियार नहीं था तो उन्होंने लखनऊ पुलिस के पास लाइसेंस रद्द करने का आवेदन क्यों दिया। पुलिस 04 दिनों का रिमांड क्यों मांग रही है, जबकि आशीष के खिलाफ इसके पहले कोई केस नहीं है। आशीष के वकील ने कहा कि ये राजनीति से प्रेरित मामला है क्योंकि आशीष के पिता बीएसपी के पूर्व सांसद हैं।

उल्लेखनीय है कि कल यानि 17 अक्टूबर को पटियाला हाउस कोर्ट ने आशीष पांडेय के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। सरेंडर करने के पहले आशीष ने कहा कि उसे गलत तरीके से फंसाया गया है। उसके खिलाफ मीडिया ट्रायल चलाया जा रहा है।

पिछले 13 अक्टूबर की रात ये विवाद हुआ था, लेकिन घटना का खुलासा दो दिन बाद तब हुआ जब उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वायरल वीडियो में युवक हाथ में पिस्टल लिए हुए होटल के मेन गेट पर एक जोड़े को धमकाता हुआ नजर आया। उस युवक ने जोड़े के साथ जमकर गाली गलौज भी की। उसके साथ कार में तीन लड़कियां भी बैठी नजर आ रही हैं। वीडियो वायरल होने के बाद दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज की। इस वायरल वीडियो के मुताबिक पिस्टल के साथ दिख रहा युवक आशीष पांडेय है।

आशीष पांडेय उत्तरप्रदेश के अंबेडकर नगर से बीएसपी के पूर्व सांसद राकेश पांडेय का बेटा है। उसका बड़ा भाई रितेश पांडेय फिलहाल बीएसपी का विधायक है।

क्या था मामला

पुलिस के अनुसार गत 13/14 अक्टूबर की सुबह 3:40 बजे होटल के पी लेवल गेस्ट एलिवेटर एरिया के पास गुलाबी रंग की पैंट पहने आशीष पिस्तौल लेकर एक युवती को धमकाते हुए दिखाई दे रहा था। आशीष के साथ तीन लड़कियां भी थीं, जिनमें से एक गालियां भी दे रही थी।

वॉशरूम में घुसने पर विवाद

यह विवाद महिला वॉशरूम में घुसने को लेकर शुरू हुआ। दरअसल आशीष अपनी महिला मित्र के साथ होटल में एक पार्टी में आया था। आरोप है कि वह महिला वाशरूम में घुस गया था, जिसका वहां मौजूद एक अन्य युवती ने विरोध किया तो वह धमकी देने लगा। आशीष ने युवती के साथी को भी धमकाया।

युवती का साथी मॉडल टाउन में कांग्रेस के एक नेता का बेटा है। इस घटना के कई चश्मदीद गवाह हैं, जो वीडियो में नजर आ रहे हैं| वीडियो वायरल हो रहा है, संभवत: वह आरोपित की कार के अंदर बैठे किसी साथी ने बनाया है।

यह धारा के तहत दर्ज हुआ मामला

पुलिस के अनुसार वीडियो सामने आने के बाद आर के पुरम थाना पुलिस ने मंगलवार को आईपीसी की धारा 323, 341, 354, 506, 509 के तहत मामला दर्ज किया। उसके बाद पुलिस की पांच टीमें आरोपित की तलाश में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी करने गई।

वाड्रा के ट्वीट से गरमाया मामला

आशीष की इस करतूत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा तो सुबह रॉबर्ट वाड्रा ने वीडियो से निकाली गई कुछ तस्वीरों को ट्वीट कर दिया। इसके बाद यह मामला और भी गरमा गया। उन्होंने अपने ट्वीट में यह लिखा कि,आई रियली फीयर फॉर सेफ्टी ऑफ आवर चिल्ड्रेन ऐंड पीपुल ऑफ दिल्ली। व्हाट इज लॉ एंड ऑर्डर ऐंड हू इज अकाउंटेबल ? इसके अलावा ही उन्होंने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए।

आशीष ने जारी किया अपना वीडियो

कोर्ट में सरेंडर करने से पहले आरोपित अशीष ने एक वीडियो जारी किया। वीडियो में अशीष ने कहा , "हैलो फ्रेंड्स... में आशीष पांडे, सन ऑफ श्री राकेश पांडे, आप मुझे पहचान रहे होंगे पिछले चार दिनों में पूरे हिन्दुस्तान में मेरे ऊपर मीडिया ट्राइल चल रहा है। मुझे ऐसे दिखाया जा रहा है जैसे कि मैं कोई टेरेरिस्ट हूं, वॉन्डेट हूं।पूरे देश की पुलिस मुझे ढूंढ रही है। मेरे लिए लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया है। मैं मना नहीं कर रहा हूं कि उस रात को ये घटना हुई थी। मुझे इसकी जानकारी दो या तीन दिन बाद तब पता चली जब ये वीडियो वायरल हुआ। लेकिन इस घटना का सिर्फ एक पक्ष ही दिखाया जा रहा है। इसका पता लगाया जाए कि उस दिन रात को क्या हुआ था, महिला वॉशरूम में कौन घुसा था ? किसने-किसको धमकी दी थी। "

पॉलीटिशियन का बेटा व भाई होना कोई बड़ा गुनाहा नहीं किया

होटल की घटना के बाद आशीष का कहना है "मुझे अपने देश की न्यायिक प्रक्रिया पर पूरा भरोसा है। मैं उसके जरिए ही अपना सरेंडर करूंगा। जिस तरह मीडिया ट्रायल कर रही है मैं ये बताना चाहता हूं कि मैं एक कारोबारी हूं। वहीं पॉलीटिशियन का बेटा या भाई होना कोई गुनाहा नहीं है इस देश में, मैं कारोबारी हूं टैक्स देता हूं। मेरे खिलाफ आज तक किसी को थप्पड़ मारने तक की रिपोर्ट नहीं है। जहां तक रही लाइसेंस की बात तो पिछले 20 साल से मेरे पास पिस्तौल है। मैंने उस हथियार को लेकर कभी किसी से बदतमीजी नहीं की है।"

Updated : 2018-10-19T21:55:55+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top