Top
Home > Lead Story > कांग्रेस झूठ के बाद अब जालसाजी पर उतारू

कांग्रेस झूठ के बाद अब जालसाजी पर उतारू

कांग्रेस झूठ के बाद अब जालसाजी पर उतारू
X

नई दिल्ली। वित्तमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी झूठ के बाद अब जालसाजी पर उतारू है। इस काम में कांग्रेस पार्टी कुछ मीडिया संस्थानों का सहारा ले रही है।

जेटली ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा की कथित डायरी को लेकर कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि आयकर विभाग की जांच में पहले ही साबित हो गया है कि यह जालसाजी का मामला है। एक कांग्रेस नेता ने आयकर विभाग को कुछ कागजात देकर दावा किया था कि ये येदियुरप्पा की डायरी का अंश है और इसमें भाजपा नेता के लेन-देन का ब्योरा है। जांच में जब यह दावा गलत साबित हुआ तो उक्त कांग्रेस नेता ने खुद किनारा कर लिया।

जेटली के अनुसार लोकसभा चुनाव के पहले कांग्रेस ने अपने मीडिया के दोस्तों के साथ मिलकर फिर यह प्रपंच दोहराने की कोशिश की। कांग्रेस यह भूल गई कि झूठ और जालसाजी से चुनाव प्रभावित नहीं किए जा सकते। जनता नेताओं से ज्यादा समझदार होती है।

भाजपा नेता ने नरेन्द्र मोदी के खिलाफ अभियान चलाने वाले मीडिया संस्थानों का नाम लिए बिना कहा कि 'झूठ का कारवां' और 'लायर्स ऑफ वायर' कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की डूबती नैया को उबारने की कोशिश कर रहे हैं। जेटली ने कहा कि कांग्रेस ने अतीत में भी विभिन्न घटनाओं के बारे में ऐसा ही झूठ फैलाया था। गोधरा ट्रेन अग्निकांड के बारे में यह प्रचारित करने का प्रयास किया गया था कि डिब्बे में अंदर से आग लगी। आतंकी संगठन से जुड़ी इशरत जहां की पुलिस मुठभेड़ में मौत को राजनीतिक हत्या करार देने की कोशिश की गई थी।

केन्द्रीय मंत्री ने सोशल मीडिया में फेक न्यूज की प्रवत्ति पर कहा कि समाचार पत्र जैसे परंपरागत माध्यमों में तथ्यों की छानबीन के बाद समाचार छापे जाते हैं। टेलीविजन चैनल माध्यम में नियमों पर इतना ध्यान नहीं रखा गया। सोशल मीडिया में तो कोई लक्ष्मण रेखा है ही नहीं। उन्होंने कहा कि यदि अभिव्यक्ति की आजादी मूलभूत अधिकार है तो किसी व्यक्ति का सम्मान और गरिमा भी उसका मौलिक अधिकार है, जिसका उल्लंघन नहीं किया जा सकता।

Updated : 23 March 2019 3:27 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top