Top
Home > Lead Story > सीएम योगी होलियाना मुड में कर रहे हैं शायरी, पर किसी माशुका या भौजाई के लिए नहीं!

सीएम योगी होलियाना मुड में कर रहे हैं शायरी, पर किसी माशुका या भौजाई के लिए नहीं!

सीएम योगी होलियाना मुड में कर रहे हैं शायरी, पर किसी माशुका या भौजाई के लिए नहीं!
X

नई दिल्ली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सिर चढ़कर 2019 का होली बोल रहा है। सौभाग्य है कि इस बार देश का 17वां लोकसभा चुनाव (लोकतांत्रिक त्यौहार) का बिगुल भी होली के इर्द-गिर्द ही बज चुका है। ऐसे में योगी ने होली व राजनीति को एक रंग में सराबोर कर दिया है। मुख्यमंत्री योगी एकदम होलियाना मुड में हैं। हों भी क्यों नहीं, वह हर भारतीय त्यौहार पूरी शिद्दत से मनाते हैं। वह फिलहाल होली के रंग में इस कदर डूब गये हैं कि शायरी कर रहे हैं। पर किसी माशुका के लिए नहीं और न ही किसी भौजाई के लिए।

मुख्यमंत्री ने गुरुवार को देशवासियों व प्रदेशवासियों को होली की हार्दिक शुभकामना संदेश भेजा। और कहा कि अधर्म, असत्य व अन्याय के विरुद्ध लड़ने और प्रेम व सद्भाव के साथ सामाजिक समता एवं सौहार्द का प्रतीक है पर्व होली। इस त्यौहार के लिए सभी को शुभकामनाएं। वह यहीं नहीं रूके। उन्होंने मोदी सरकार व अपनी सरकार की तमाम योजनाओं को होली की खुशहाली से जोड़ते हुए एक के बाद एक ट्विट किया।

सोशल मीडिया पर अपने साझा किए गये कवितानुमा पोस्ट से बता रहें हैं कि उप्र में उनकी सरकार के आने से बहुत बड़ा बदलाव आया है। उन्होंने लिखकर प्रदेशवासियों को आश्वस्त किया है कि नए सफर पर उत्तर प्रदेश चल रहा है।

उन्होंने अपने कवितानुमा पोस्ट में उप्र में हाल ही में चलाई गयी पिंक बस, कर्ज माफी, गन्ना भुगतान,पीएम किसान निधि, अपराध मुक्त उप्र व कानून राज, सौभाग्य योजना, सैनिकों, गंगा की अविरलता का जिक्र किया है। उन्होंने लिखा है कि सबके सहयोग से प्रदेश का चतुर्दिक विकास हो रहा है। इतिहास रचा जा रहा है।

उन्होंने लिखा कि-

''गुलाबी रंग हमारी धुरी है,

एक आंदोलन की शुरुआत जरुरी है।

पिंक बस सर्विस और सुमंगला का मार्ग हुआ प्रशस्त,

अब महिलाएं हो रही हैं सशक्त।।

हरा रंग हरियाली का,

हर किसान की खुशहाली का।

कर्ज माफी, गन्ना भुगतान,

पीएम किसान निधि है किसान मित्रों का सम्मान।।

सफेद रंग शांति की पहचान,

यूपी का देश में बढ़ रहा मान।

अपराध और दंगों पर लगा पूर्ण विराम,

कानून का राज स्थापित कर गढ़ा नया आयाम।।

पीला रंग प्रकाश का,

जन जन के विश्वास का।

घर घर को हमने किया उज्ज्वल,

सौभाग्य योजना ने बढ़ाया लोगों का मनोबल।।

लाल रंग बलिदान का,

सीमा पर मुस्तैद हर जवान का।

जिन्होंने देश सेवा में दी अपनी जान,

हर प्रदेशवासी को है, वीरों पर अभिमान।।

अविरल स्वच्छ नदियों की धार,

नीला रंग है इसका आधार।

प्रदेश की जीवन दायनी का,

हम कर रहे जीर्णोधार

रंग नारंगी है हमारी संस्कृति और दक्षता का,

संगम है पवित्रता का, प्रतिष्ठा और स्वच्छता का।

प्रदेश का हो रहा चतुर्दिक विकास,

सबके सहयोग से रचा जा रहा इतिहास।।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष की होली वह अपने गृह जनपद गोरखपुर स्थित गोरक्षपीठ मंदिर मनाएं। इस बार की होली भी वहीं गोरखपुर में मनाने पहुंचे हैं। लेकिन सोशल मीडिया में होली के अवसर पर उनका यह शायराना अंदाज लोगों द्वारा काफी पंसद किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, इतना शायराना मुड योगी का पहली बार देखने को मिला है।

Updated : 21 March 2019 5:44 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top