Top
Home > विदेश > बेलग्रेड में उपराष्ट्रपति नायडू बोले, भारत-सर्बिया संबंधों का नया युग

बेलग्रेड में उपराष्ट्रपति नायडू बोले, भारत-सर्बिया संबंधों का नया युग

बेलग्रेड में उपराष्ट्रपति नायडू बोले, भारत-सर्बिया संबंधों का नया युग
X

नई दिल्ली। तीन पूर्वी यूरोपीय देशों, सर्बिया, माल्टा और रोमानिया की आधिकारिक यात्रा पर सर्बिया पहुंचे उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने बेलग्रेड के कालेमेगडॉन किले को देखा। अपने मॉर्निंग वॉक पर निकले उप-राष्ट्रपति की सुबह कालेमेगडॉन किले को घूमते हुए और उसके इतिहास से रूबरू होते हुए बीती।

इसके पहले उप-राष्ट्रपति नायडू ने बेलग्रेड वॉटरफ्रंट प्रोजेक्ट का मुआयना किया। ये सर्बिया की सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है, जो बेलग्रेड शहर को बेहतर करने के लिए तैयार की है। उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू तीन यूरोपीय देशों, सर्बिया, माल्टा और रोमानिया की आधिकारिक यात्रा शुक्रवार, 14 सितम्बर से शुरू हुई है, और 20 सितम्बर तक चलेगी। उप राष्ट्रपति के साथ वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला, राज्यसभा सांसद प्रसन्ना आचार्य, विजिला सत्यानंद, सरोज पांडे, लोकसभा सांसद राघव लखनपाल है। इस यात्रा में कारोबारी जगत के संगठन, कन्फेडेरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज़ (सीआईआई) का एक प्रतिनिधिमंडल भी उप-राष्ट्रपति के साथ है।

अपनी तीन पूर्वी यूरोपीय देशों, सर्बिया, माल्टा और रोमानिया की आधिकारिक यात्रा के पहले चरण में सर्बिया पहुंचे उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि भारत के प्रतिनिधि के रूप में वे अपने देशवासियों का प्यार और शुभकामनाओं भर सभी सर्बियन दोस्तों के लिए लाए हैं। मुझे विश्वास है कि भारत-सर्बिया मिलकर एक बेहतर दुनिया का निर्माण करेंगे। शनिवार को उप-राष्ट्रपति नायडू ने सर्बिया की नेशनल एसेम्बली को संबोधित किया। उससे पहले उन्होंने नेशनल एसेम्बली की स्पीकर श्रीमती माजा गोजकोविक से मुलाकात की। नायडू ने कहा कि ये उनके लिए गर्व के पल है कि उन्हें सर्बिया की नेशनल एसेम्बली के विशेष सत्र को संबोधित करने का मौका मिला है। नायडू ने सर्बिया की नेशनल एसेम्बली को भारत सरकार के हालिया आर्थिक सुधारों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा से सर्बिया की संप्रभुता का सम्मान करता आया है।

उप-राष्ट्रपति 16 से 18 सितम्बर तक माल्टा यात्रा पर होंगे। जहां वे माल्टा के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, स्पीकर, सांसदों से मिलेंगे। नायडू माल्टा में रह रहे भारतीय समुदाय से भी मुलाकात करेंगे। वे माल्टा में एक बिजनेस कार्यक्रम में भी हिस्सा लेंगे। भारत के माल्टा के साथ 1965 से राजनयिक संबंध है। पिछले ही साल भारत ने माल्टा में स्थायी मिशन स्थापित किया है।

माल्टा के बाद अपनी यात्रा के अंतिम चरण में उप-राष्ट्रपति रोमानिया जाएंगे। भारत-रोमानिया अपने राजनायिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। उप-राष्ट्रपति रोमानिया में वहां के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, स्पीकर और संसद के विभिन्न समितियों के प्रमुखों से मुलाकात करेंगे। वे रोमानिया में एक बिजनेस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे और रोमानिया में रह रहे भारतीय समुदाय से मिलेंगे।

Updated : 2018-09-16T23:26:52+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top