Top
Home > विदेश > रूस बना रहा मध्यम दूरी की मिसाइल

रूस बना रहा मध्यम दूरी की मिसाइल

रूस बना रहा मध्यम दूरी की मिसाइल
X

मॉस्को। शीत युद्ध काल में अमेरिका के साथ हुई इंटरमीडिएट रेंज परमाणु बल (आईएनएफ़) संधि से अलग होने के बाद रूस ने नई मिसाइल प्रणाली विकसित करने की दिशा में काम शुरू कर दिया है। यह जानकारी बुधवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

उल्लेखनीय है कि आईएनएफ संधि के तहत रूस और अमरीका पर छोटी और मध्यम दूरी की मिसाइलों के इस्तेमाल पर रोक थी। हालांकि अमरीका काफी समय से रूस पर यह आरोप लगा रहा था कि वह इस समझौते का उल्लंघन कर रहा है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले सप्ताह यह घोषणा की थी कि अमेरिका इस समझौते से अलग हो रहा है। इसके बाद रूस भी इस समझौते से बाहर हो गया। नतीजा है कि अब हथियारों की नई होड़ शुरू हो गई है।

रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोयगू ने मंगलवार को कहा कि अगले दो सालों में रूस ने सतह से मार करने वाली नई मिसाइल बनाने का लक्ष्य तय किया है। साल 1987 में हुई आइएनएफ संधि के तहत सतह से मार करने वाली मिसाइल पर प्रतिबंध था, लेकिन समुद्र और हवा से दागी जाने वाली मिसाइलें इसके दायरे में नहीं थीं। रूस इस तरह की मिसाइल प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल नई मिसाइल विकसित करने में कर सकता है।

शोयगू ने कहा, ''अमरीका पहले से ही समझौते का उल्लंघन कर रहा था। वह पांच सौ किलोमीटर से अधिक दूरी तय करने में सक्षम मिसाइल बनाने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहा है, जो संधि की सीमाओं के बाहर है।''

उन्होंने आगे कहा, "इस स्थिति में रूसी राष्ट्रपति ने रक्षा मंत्रालय को 'जैसे को तैसा' की तर्ज पर काम करने को कहा है।"अमरीका ने रूस की इस घोषणा पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Updated : 6 Feb 2019 9:02 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top