Top
Home > विदेश > 47 साल बाद फिर चालू हुआ हुसैनीवाला पुल

47 साल बाद फिर चालू हुआ हुसैनीवाला पुल

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया उद्घाटन

47 साल बाद फिर चालू हुआ हुसैनीवाला पुल
X

चंडीगढ़। भारत-पाकिस्तान के बीच वर्ष 1971 में हुए युद्ध के दौरान तबाह हुआ हुसैनीवाला का ऐतिहासिक पुल रविवार को फिर से 47 साल बाद चालू हो गया है। इस पुल को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश को समर्पित किया। इस पुल के बनने से न केवल हुसैनीवाला क्षेत्र के करीब एक दर्जन गावों को लाभ मिलेगा बल्कि सेना को भी इससे मदद मिलेगी।

यह पुल पुराने फिरोजपुर-लाहौर मुख्य मार्ग पर स्थित था, जो कि वर्ष 1971 में हुई भारत-पाक जंग में तबाह हो गया था। सतुलज नदी पर बने करीब 280 फुट लंबे पुल के माध्यम से हुसैनीवाला के करीब एक दर्जन गांव फिरोजपुर के साथ जुड़ते थे। हालांकि युद्ध विराम के बाद सेना ने अपने इस्तेमाल के लिए इस पुल का अस्थाई निर्माण भी किया लेकिन वह ज्यादा समय तक चल नहीं पाया।

सेना के बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन विंग (बीआरओ) ने प्रोजेक्ट चेतक के तहत इस पुल का निर्माण कार्य शुरू किया। चार स्पैन वाले इस पुल को राष्ट्र को समर्पित करते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस पुल के चालू होने से सेना व आम नागरिकों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि सतलुज नदी से पार जाने वाले किसानों को इस पुल से जहां खेतीबाड़ी के कामों में मदद मिलेगी, वहीं सेना को अपना सामान, वाहन तथा हथियार आदि एक से दूसरी तरफ पहुंचाने में मदद मिलेगी।

इस अवसर पर रक्षा मंत्री ने बीआरओ को बधाई देते हुए कहा कि वे अब तक करीब 52000 किलोमीटर सड़कों का निर्माण, 650 स्थायी बड़े पुलों का निर्माण कर चुका है। इस अवसर पर बीआरओ के महानिदेशक ले. जनरल हरपाल सिंह, सेना की पश्चिमी कमान के कमांडर सुरिंदर सिंह के अलावा क्षेत्र के कई प्रतिनिधि मौजूद रहे।

Updated : 2018-08-13T20:24:02+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top