Top
Home > अर्थव्यवस्था > जेट एयरवेज का संकट और गहराया, शेयरों में भी गिरावट

जेट एयरवेज का संकट और गहराया, शेयरों में भी गिरावट

जेट एयरवेज का संकट और गहराया, शेयरों में भी गिरावट

नई दिल्ली। लोगों को सस्‍ती हवाई सेवा मुहैया कराने वाली एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। संकट का सामना कर रही जेट एयरवेज को किराये का भुगतान नहीं कर पाने की वजह से दो और विमानों को परिचालन से हटाना पड़ा है। इस बात की जानकारी कंपनी की ओर से मंगलवार को दी गई है।

जेट एयरवेज के 25 विमान अब तक परिचालन से हुए बाहर

इन दो विमानों को परिचालन से हटाए जाने के बाद विमानन कंपनी ने अब तक 25 विमानों को खड़ा कर दिया है, जो कंपनी के बेड़े में शामिल विमानों की संख्या का तकरीबन 20 फीसदी है। कंपनी की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। इससे पहले शनिवार को स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में कंपनी ने कहा है कि किराये पर विमान देने वाली कंपनी के किराये का भुगतान नहीं किए जाने की वजह से दो और विमानों को परिचालन से हटाना पड़ा है।

कंपनी डीजीसीए को लगातार दे रही है स्थिति की जानकारी

जेट एयरवेज एयरलाइन की ओर से कहा गया है कि वह विमान किराए पर देने वाली सभी कंपनियों से बातचीत कर रही है। साथ ही उन्हें नकदी संकट की स्थिति को सुधारने की दिशा में उठाए जा रहे कदमों के बारे में जानकारी दी जा रही है। कंपनी ने कहा कि वह विमानों को परिचालन से हटाए जाने की वजह से यात्रियों को होने वाली परेशानियों को हर संभव कम करने की कोशिश कर रही है।इसके साथ ही विमानन कंपनी नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) को भी लगातार सूचनाएं मुहैया करा रही है।

जेट एयरवेज के शेयर में 65 फीसदी तक की गिरावट दर्ज

जेट एयरवेज के बोर्ड की तरफ से बैंकों के समाधान योजना को मंजूरी दिए जाने के बाद भी अभी तक नकदी संकट की स्थिति से नहीं निपटा जा सका है, जिसका असर कंपनी के शेयरों पर साफ दिख रहा है। पिछले एक साल में जेट एयरवेज का शेयर करीब 65 फीसदी से अधिक तक टूट चुका है जबकि इस दौरान एविएशन सेक्टर में करीब 25 फीसदी तक की गिरावट आई है। दिसंबर तिमाही में कंपनी को 587.77 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है।

Updated : 5 March 2019 12:06 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top