Home > देश > अमेरिकी सैनिकों ने हिंदी गाने 'बदलूराम का बदन' पर थिरके, देखें वीडियो

अमेरिकी सैनिकों ने हिंदी गाने 'बदलूराम का बदन' पर थिरके, देखें वीडियो

अमेरिकी सैनिकों ने हिंदी गाने बदलूराम का बदन पर थिरके, देखें वीडियो
X

नई दिल्ली। इन दिनों अमेरिकी सैनिक अड्डे लेविस मेकॉर्ड में भारत और अमेरिका की सेनाएं साझा युद्धाभ्यास कर रही हैं। 5 सितंबर को शुरू हुआ यो युद्धाभ्यास 18 सितंबर तक चलेगा। ऐसे में न्यूज एजेंसी एएनआई के हवाले से इस युद्धाभ्यास का एक वीडियो सामने है जिसमें दोनों देशों के सैनिक असम रेजीमेंट के मार्चिंग सॉन्ग 'बदलूराम का बदन जमीन के नीचे है पर हमको उसका राशन मिलता है' पर थिरक रहे हैं।

बता दें कि ये भारत और अमेरिका के बीच का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास है। ये युद्धाभ्यास एक साल भारत में तो दूसरे साल अमेरिका में आयोजित होता है। दोनों सेनाओं की ओर से जारी वीडियो में सैनिक पैरों को हिलाते हुए ताली बजा रहा हैं और गाना गा रहे हैं।'

'बदलूराम का बदन जमीन के नीचे है पर हमको उसका राशन मिलता है' गाने को रेजीमेंट का मार्चिंग सांग बनाने के पीछे की कहानी काफी दिलचस्प है। दरअसल दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बदलूराम नाम के एक सैनिक असम रेजीमेंट का हिस्सा थे। उसी समय 1944 में 'कोहिमा की लड़ाई' हुई। यहां भारत और जापान के बीच युद्ध में बदलूराम शहीद हो गए। बदलूराम के शहीद होने के बाद भी उनके रेजीमेंट के रसद प्रबंधक कई महीनों तक उनके नाम का राशन लेते रहे। इसके बाद जब जापान की सेना ने भारतीय सेना के दस्ते को घेर लिया तो राशन आना बंद हो गया। ऐसे में बदलूराम के नाम पर जमा राशन ने ही सैनिकों के काम आकर उनकी जान बचाई। इसलिए कहा जाता है कि बदलूराम शहूीद होने के बाद भी अपने साथियों के काम आते रहे हैं।



Updated : 15 Sep 2019 2:25 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top