Home > देश > यूपीए चेयरपर्सन ने उठाया रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री का मुद्दा, लगाया यह आरोप

यूपीए चेयरपर्सन ने उठाया रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री का मुद्दा, लगाया यह आरोप

यूपीए चेयरपर्सन ने उठाया रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री का मुद्दा, लगाया यह आरोप
X

नई दिल्ली। यूपीए चेयरपर्सन और रायबरेली से सांसद सोनिया गांधी ने मंगलवार को संसद में रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री के मुद्दे को उठा सरकार को घेरने की कोशिश की। सोनिया ने सार्वजनिक उपक्रमों को लेकर सरकार की मंशा पर सवाल उठाए। सोनिया ने कहा कि वर्तमान सरकार कुछ उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए लोगों की रोजी-रोटी से खिलवाड़ कर रही है।

पंडित नेहरु ने सार्वजनिक क्षेत्रों को आधुनिक भारत के मंदिर कहा था। ये देखकर दुख होता है कि आज ऐसे ज्यादातर मंदिर खतरे में हैं। फायदे के बावजूद इन संस्थाओं में काम कर रहे कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिल रहा। यही नहीं कुछ उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए कर्मचारियों को परेशानी में डाला जा रहा है।

एचएएल, बीएसएनएल और एमटीएनएल के साथ यही हो रहा है। मैं सरकार से रायबरेली में आधुनिक कोच कारखाने और अन्य सार्वजनिक उपक्रमों की रक्षा करने और श्रमिकों और उनके परिवारों को सम्मान देने का आग्रह करती हूं। स्थानीय लोगों के रोजगार के लिए भी रायबरेली का रेल कोच महत्वपूर्ण है। सरकार इस फैक्ट्री के निजीकरण का प्रयास कर रही है। इससे हजारों लोग बेरोजगार होंगे। देश की सबसे आधुनिक फैक्ट्रियों में से है और पूर्व की सरकारों ने इसे आगे ले जाने के लिए काफी काम किया। फैक्ट्री में 2 हजार मजदूरों और कर्मचारियों की मेहनत लगी है, लेकिन अब उन परिवारों को भविष्य खतरे में है। सरकार क्यों ऐसी इकाई का कंपनीकरण करना चाहती है। सरकार ने रेल बजट अलग से पेश करने की पुरानी परंपरा को क्यों खत्म कर दिया।

Updated : 2 July 2019 2:01 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top