Top
Home > देश > अब डायरिया होना भी कोविड-19 का हो सकता है संकेत, 3 नए लक्षणों की हुई पहचान

अब डायरिया होना भी कोविड-19 का हो सकता है संकेत, 3 नए लक्षणों की हुई पहचान

अब डायरिया होना भी कोविड-19 का हो सकता है संकेत, 3 नए लक्षणों की हुई पहचान

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने कोरोनो वायरस के तीन नए लक्षणों की पहचान की है। इन्हें अपनी मौजूदा सूची में भी शामिल किया है। अमेरिकी स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी की 12 लक्षणों की सूची में अब नाक बंद होना या बहती नाक, मतली (जी मिचलाना) और डायरिया (दस्त) को भी जोड़ा गया है।

बुखार या ठंड लगना, खांसी, सांस की तकलीफ या सांस लेने में कठिनाई, थकान, मांसपेशियों या शरीर में दर्द, सिरदर्द, गंध या स्वाद की कमी और गले में खराश ऐसे लक्षण हैं जो पहले से ही सीडीसी की सूची में हैं। एजेंसी ने अपनी वेबसाइट के जरिए कहा है कि इस सूची में सभी संभावित लक्षण शामिल नहीं हैं। सीडीसी इस सूची को तब तक अपडेट करता रहेगा जब तक हम कोरोना के बारे में अधिक नहीं जान जाता है।

साथ ही कहा गया है कि जो लोग कोरोना की चपेट में आए हैं, उनमें अलग-अलग लक्षण हो सकते हैं। हेल्थ एजेंसी ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि Sar-Cov-2 वायरस के संपर्क में आने के बाद लक्षण प्रकट होने में 2-14 दिनों का समय लग सकता है।

सीडीसी के लक्षणों की सूची बुखार, खांसी और सांस की तकलीफ तक सीमित थी। उसके बाद छह नए लक्षण जोड़े गए- ठंड लगना, मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द, गले में खराश और अप्रैल में स्वाद या गंध महसूस नहीं होना। सांस की तकलीफ को भी बाद में लक्षण में जोडा गया। स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा, 'किसी में भी हल्के से लेकर गंभीर लक्षण हो सकते हैं। वृद्ध वयस्कों और जिन लोगों में हृदय या फेफड़ों की बीमारी या मधुमेह जैसी गंभीर बीमारी हैं, उनमें कोरोना की जोखिम अधिक है।'

आपको बता दें कि जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के ट्रैकर के अनुसार, कोरोना के मामलों की संख्या एक करोड़ को पार कर चुकी है। पिछले कुछ महीनों में 4,99,000 से अधिक मौतें हुई हैं। भारत में अब तक 5.28 लाख से अधिक संक्रमण और 16,000 से अधिक लोगों की जान गई है।

Updated : 28 Jun 2020 1:47 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top