Top
Home > देश > लालच देकर गरीब लोगों का धर्म परिवर्तन कराने आए इसाई मिशनरियों को ग्रामीणों ने खदेड़ा

लालच देकर गरीब लोगों का धर्म परिवर्तन कराने आए इसाई मिशनरियों को ग्रामीणों ने खदेड़ा

लालच देकर गरीब लोगों का धर्म परिवर्तन कराने आए इसाई मिशनरियों को ग्रामीणों ने खदेड़ा

कुरुक्षेत्र, 3 जून । कुरुक्षेत्र जिले के बाबैन खंड सहित आसपास के गांवों के गरीब व अशिक्षित लोगों को तरह-तरह के लालच देकर उनको इसाई धर्म अपनाने के लिए प्रेरित करने का मामला प्रकाश में आया है। राष्ट्रीय आर्य क्षत्रिय सभा के कार्यकर्ताओं को जैसे ही इस कार्य को अंजाम देने के लिए बाबैन में आए इसाई मिशनरियों का पता चला तो सभा के कार्यकर्ताओं ने मौके पर पहुंच कर इसाई मिशनीरियों को घेर लिया और उनके प्रयासों को विफल कर दिया। मामला इतना बढ़ गया कि मौके पर पुलिस को बुलाना पड़ा और इसाई मिशनीरियों द्वारा बाबैन क्षेत्र में अपनी गतिविधियों को बंद कर देने के आश्वासन के बाद ही मामला शांत हुआ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसाई मिशनरियों द्वारा पिछले कुछ दिनों से इसाई मिशनरियों की गतिविधियां बढ़ रही थी और उनके द्वारा गरीब व अशिक्षित लोगों को तरह-तरह के लालच देकर उनको ईसाई धर्म अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा था।

सोमवार को इसाई मिशनरियों द्वारा बाबैन में प्रवचनों का आयोजन किया था जिसमें आए लोगों को इसाई बनने के लिए प्रेरित किया जा रहा था। इसकी भनक जैसे ही आस-पास के घरों की औरतों को लगी तो उन्होंने राष्ट्रीय आर्य क्षत्रिय सभा के कार्यकर्ताओं को मौके पर बुला लिया। राष्ट्रीय आर्य क्षत्रिय सभा के कार्यकर्ताओं ने इसाई मिशनीरियों को ऐसा करने से मना किया तो इसाई मिशनरियों और राष्ट्रीय आर्य क्षत्रिय सभा के कार्यकर्ताओं के बीच कहा सुनी हो गई और नौबत मारपिटाई तक आ गई। काफी संख्या में लोगों के वहां एकत्रित होने पर मामला बढ़ गया और मौके पर पुलिस को बुलाना पड़ा। मौके पर आए ए.एस.आई. अशोक कुमार ने दोनों पक्षों को समझा कर वहां से हटाया और दोनों को ही थाने में लेकर गए। इसाई मिशनरियों द्वारा भविष्य में बाबैन क्षेत्र में अपनी गतिविधियां बंद कर देने के आश्वासन के बाद मामला शांत हो गया और लोगों ने इसाई मिशनरियों को वहां से जाने दिया। इस अवसर पर बाबैन के कार्यवाहक सरपंच सूर्या सैनी, राजीव गुढ़ी, अभिषेक आर्य, अमित बरगट, मलकीत बुहावी, रिषी पाल, नीरज, राजेश, ओमपाल के अलावा अनेक लोग उपस्थित थे। (हि.स.)

Updated : 2019-06-04T18:42:24+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top