Top
Home > Archived > सिख दंगा केस : वासन होंगे 186 बंद मामलों की जांच आयोग के सदस्य, सुनवाई हफ्तेभर के लिए टली

सिख दंगा केस : वासन होंगे 186 बंद मामलों की जांच आयोग के सदस्य, सुनवाई हफ्तेभर के लिए टली

सिख दंगा केस : वासन होंगे 186 बंद मामलों की जांच आयोग के सदस्य, सुनवाई हफ्तेभर के लिए टली
X

-File Photo

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने 1984 सिख दंगे से जुड़े मामले की सुनवाई में एक हफ़्ते के लिए टाल दी है। सरकार ने बन्द किये 186 केस की फिर से जांच के लिए गठित एसआईटी में रिटायर्ड आईपीएस अफसर राजदीप सिंह की असहमति के बाद , उनकी जगह पर तेलंगाना के 1980 बेंच के आईपीएस एन आर वासन के नाम का सुझाव दिया है। एसआईटी के दो बाकी सदस्य दिल्ली हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज एस एन ढींगरा (अध्यक्ष)और वर्तमान आईपीएस अभिषेक दुलार हैं।

पिछले 11 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने नई एसआईटी का गठन किया था। इस नई एसआईटी में दिल्ली हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज एस एन ढींगरा, एक रिटायर आईपीएस राजदीप सिंह, और सेवारत आईपीएस अभिषेक दुलार शामिल थे। लेकिन रिटायर आईपीएस राजदीप सिंह ने इस एसआईटी में शामिल होने पर अपनी असहमति जताई है।

सुप्रीम कोर्ट ने रिटायर्ड जजों की बनाई गई कमेटी द्वारा 6 दिसंबर 2017 को सौंपे गए रिपोर्ट को देखने के बाद कहा था कि उसके द्वारा नियुक्त कमेटी के मुताबिक 241 सिख विरोधी दंगों के मामलों में से 186 को बिना जांच के ही बंद कर दिया गया।

1 सितंबर 2017 को सुप्रीम कोर्ट ने 199 बंद केसों की पड़ताल करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के दो रिटायर्ड जजों की एक कमेटी बनाई थी। ये जज हैं जस्टिस जेएम पांचाल और जस्टिस के एस राधाकृष्णन।

Updated : 2018-02-05T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top