Latest News
Home > Archived > भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले का मास्टरमाइंड मुठभेड़ में ढ़ेर

भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले का मास्टरमाइंड मुठभेड़ में ढ़ेर

भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले का मास्टरमाइंड मुठभेड़ में ढ़ेर
X

श्रीनगर। जम्मू में अमरनाथ यात्रियों पर हमला करने वाले लश्कर-ए-तैयबा के पाकिस्तानी आतंकवादी मुहम्मद अबू इस्माइल को सेना ने मार गिराया है। सेना को उस वक्त बड़ी कामयाबी मिली जब नौगाम के अरीगाम इलाके में हुई मुठभेड़ में अमरनाथ यात्रियों पर हमले का मास्टरमाइंड मारा गया। मुठभेड़ में इस्माइल का एक सहयोगी भी मारा गया।

हम आपको बता दें कि लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर और अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले के साजिशकर्ता इस्माइल की तलाश के लिए सेना ने बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया था। आखिरकार गुरुवार को सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। सेना के मुताबिक 26 वर्षीय इस्माइल दो साल पहले सीमा पार कर कश्मीर घाटी में आया और तब से दक्षिणी कश्मीर के इलाकों में आतंकवादी वारदातों को अंजाम देता रहा है।

अबू इस्माइल ने लश्कर के एक विदेशी आतंकवादी और दो-तीन स्थानीय आतंकवादियों के साथ मिलकर 10 जुलाई को सावन महीने के पहले सोमवार को अमरनाथ यात्रियों की बस पर हमला किया था। आतंकवादी दो मोटरसाइकिलों पर सवार होकर आए और दो जगहों पर स्वचालित हथियारों से बस पर 100 से अधिक गोलियां चलाईं। पहले हमले के बाद आतंकवादियों ने बस का पीछा किया और थोड़ी दूर जाकर फिर से बस पर हमला किया। इस हमले में 8 तीर्थयात्रियों की मौत हुई थी।

गौरतलब है कि सुरक्षाबल के अधिकारियों के हवाले से कहा गया था कि दुजाना और इस्माइल के बीच कौन ज्यादा बेहतर है, इसे लेकर दोनों में ही ठनी रहती थी। इस्माइल पिछले सात सालों से लश्कर का हिस्सा रहा और वह लश्कर के उस कैंप में भी था जहां पर 200 आतंकियों को भारत में हमलों के लिए ट्रेनिंग दी जा रही थी। इंटेलीजेंस ब्यूरो की मानें तो इस्माइल को घाटी में आतंकी हमलों के लिए ऑपरेटिव्स को इकट्ठा करने का जिम्मा सौंपा गया था।

Updated : 2017-09-14T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top