Top
Home > Archived > डोनाल्ड ट्रंप को हैम्बर्ग के सीनेट हाउस में क्यों ठहरना पड़ा जानिए.....

डोनाल्ड ट्रंप को हैम्बर्ग के सीनेट हाउस में क्यों ठहरना पड़ा जानिए.....

डोनाल्ड ट्रंप को हैम्बर्ग के सीनेट हाउस में क्यों ठहरना पड़ा जानिए.....


हैम्बर्ग।
जी हाँ, आपको बता दें कि इस बार जी 20 समिट में हिस्सा लेने पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप उस वक्त परेशानी में पड गए जब उन्हें वहां ठहरने के लिए होटल नहीं मिला। गौरतलब है कि ट्रंप जी 20 समिट में हिस्सा लेने जर्मनी के हैम्बर्ग पहुंचे थे लेकिन उनके स्टाफ ने होटल बुक कराने में देरी कर दी और बाद में उन्हें वहां होटल मिलना मुश्किल हो गया। दरअसल ट्रंप के साथ हैम्बर्ग का दौरा कर रहे स्टाफ ने जी 20 के नेताओं से मुलाकात से पहले होटल बुक करने में देरी कर दी, जिसके चलते अमेरिकी राष्ट्रपति को ठहरने के लिए बडा होटल नहीं मिला।

जर्मनी के स्थानीय अखबार की रिपोर्ट के अनुसार फॉर सीजन्स होटल ने रूम उपलब्ध नहीं होने की वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मेजबानी करने से इनकार कर दिया। ट्रंप को हैम्बर्ग में किसी बडे होटल में ठहरने की इजाजत ना मिल पाने के कारण उन्हें बेहद शर्मिंदगी का सामना करना पडा।

हम आपको बता दें की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप खुद एक रियल एस्टेट दिग्गज हैं। डोनाल्ड ट्रंप खुद कई लग्जरी होटलों के मालिक हैं। दुनिया के कई होटलों में ट्रंप के होटल हैं लेकिन जर्मनी में उनका एक भी होटल नहीं है।

गौरतलब है कि एक स्थानीय अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार डोनाल्ड ट्रंप हैम्बर्ग के सीनेट हाउस में ठहरे जबकि उनका स्टाफ शहर में स्थित अमेरिकी वाणिज्यिक दूतावास में ठहरा है। ज्ञातव्य है कि यह पहली बार नहीं है, जब अमेरिकी स्टाफ ने समय से होटल बुक नहीं करने की गलती की है। इससे पहले भी वे ऐसी गलती कर चुके हैं। वहीं रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पार्क हयात में ठहरे हुए हैं, भारत के पीएम मोदी अटलांटिक केम्पिंस्की होटल में ठहरे हुए हैं। जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो भी इसी होटल में ठहरे हुए हैं।

Updated : 2017-07-08T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top