Top
Home > Archived > सौर ऊर्जा से रोशन होगा ग्वालियर स्टेशन

सौर ऊर्जा से रोशन होगा ग्वालियर स्टेशन

सौर ऊर्जा से रोशन होगा ग्वालियर स्टेशन

ग्वालियर| बिजली की बढ़ती दरों से चिंतित रेलवे भी अब सौर ऊर्जा के उपयोग पर ध्यान देगा। रेलवे ने अभी हाल ही में कई स्टेशनों और रेलवे क्रॉसिंग लेबलों को सौर ऊर्जा से जगमग करने की योजना बनाई है। बताया जाता है कि रेलवे अभी तक ट्रेनों के अलावा अन्य सभी जगह स्टेशन, रिटायरिंग रूम, केबिन, आॅफिस आदि में बिजली का ही उपयोग करती है। इसके लिये वह बिजली खरीदती है लेकिन बिजली की बढ़ती दरों को देखते हुए रेलवे ने अपने स्टेशनों को सौर ऊर्जा से जगमग करने की योजना बनाई है।

सौर ऊर्जा के लिये रेलवे अपनी खाली जगह पर सौर पैनल भी लगायेगा। रेलवे ने इसके लिये सौर ऊर्जा कम्पनियों से टेंडर मंगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वहीं बीते रोज निजी कंपनी के अधिकारियों ने ग्वालियर रेलवे स्टेशन का सर्वे भी किया है, जिसमें उन स्थानों को चिन्हित किया गया है जहां पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगाए जाने हैं। सौर ऊर्जा संयंत्र मौसम पर निर्भर होता है। मौसम की खराबी और अन्य कारणों से बिजली उत्पादन प्रभावित हो सकता है। इसके लिये रेलवे स्टेशन में बिजली आपूर्ति के पुराने तकनीक को यथावत रखा जायेगा। ताकि आपातकालीन स्थिति में ग्रिड से रेलवे स्टेशन को बिजली आपूर्ति की जा सके।

रेलवे की खाली जगहों पर लगेंगे पैनल
ग्वालियर में रेलवे की इमारत पर सौर पैनल लगाए जाएंगे। वैसे, यहां के सभी प्लेटफार्मो, कार्यालयों और स्टाफ क्वार्टरों में पांच से आठ मेगावाट बिजली की रोज खपत हो रही है। वहीं सौर ऊर्जा से उत्पादित बिजली की 100 प्रतिशत खपत होगी।

बीते रोज सौर ऊर्जा कंपनी ने किया सर्वे
बीते रोज ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर सौर ऊर्जा के संयंत्र लगाने वाले अधिकारियों ने ग्वालियर रेलवे स्टेशन का सर्वे किया। जिसमें उन स्थानों का सर्वे किया गया है जहां पर सौर ऊर्जा के संयंत्र लगाएं जाएंगे।


सभी कार्यालय होंगे सौर ऊर्जा से संचालित
आने वाले दिनों में आरक्षण खिड़की से लेकर सभी कार्यालय सौर ऊर्जा से संचालित होंगे। दूसरी ओर इसमें अब पहले चरण में रेलवे ट्रेक की लेबल क्रॉसिंग को भी सौर ऊर्जा से चलाने की तैयारी शुरू कर दी है। लेबल क्रॉसिंग पर जल्दी ही सौर ऊर्जा पैनल लगाये जा रहे हैं।

Updated : 2017-06-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top