Top
Home > Archived > बाबा अमरनाथ यात्रा मार्ग को सेना के हवाले करे जम्मू-कश्मीर सरकार

बाबा अमरनाथ यात्रा मार्ग को सेना के हवाले करे जम्मू-कश्मीर सरकार

बाबा अमरनाथ यात्रा मार्ग को सेना के हवाले करे जम्मू-कश्मीर सरकार

नई दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने अमरनाथ यात्रा के सुगम, सुरक्षित व निर्बाध गति से संचालन तथा लेह- कारगिल-द्रास-बालटाल मार्ग को यात्रियों के लिए अविलम्ब खोलने की मांग की है । इस बाबत विहिप ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल तथा अमरनाथ श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष एनएन बोहरा तथा मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती को एक पत्र भी लिखा है ।

विहिप के अंतरराष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ सुरेन्द्र जैन द्वारा लिखित पत्र में कहा गया है कि गत कुछ वर्षों में जिस प्रकार पत्थरबाजों, अलगाववादियों तथा आतंकियों ने यात्रा को अनेक बार वाधित किया है, अब लेह-कारगिल-द्रास-बालटाल मार्ग को चालू कर, सभी यात्रा मार्गों को सेना के हवाले कर दिया जाए । इस मार्ग की अनुशंसा बोर्ड तथा सर्वोच्च न्यायालय को, जस्टिस मुखर्जी कमेटी तथा जस्टिस कोहली कमेटी पहले ही कर चुके हैं ।

राज्यपाल व मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में विहिप ने जहां यात्रियों को आतंरिक या वाह्य आपदा से बचाने तथा उससे होने वाली परेशानियों को कम से कम करने हेतु पूर्व-नियोजित सुव्यवस्थित आपदा प्रवंधन व बचाव योजना पर बल दिया है वहीं यात्रियों से वसूले जाने वाले हेलीकॉप्टर तथा अन्य सेवाओं पर सेवा कर, रोड टैक्स, राज्य प्रवेश कर जैसे विविध जजिया करों को समाप्त करने की माँग भी दोहराई है ।

विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने बताया कि जहां यात्रा को जल्द प्रारम्भ करने की मांग की है वहीं यात्रा प्रबंधन व निर्णयन में बोर्ड द्वारा बाबा न्यास तथा बाबा बूढ़ा अमरनाथ यात्री न्यास को शामिल करने की भी राज्यपाल से मांग की है जिससे यात्रा सुगम, सुरक्षित तथा सुनियोजित ढंग से संचालित हो सके । डॉ जैन ने पहले पन्द्रह दिनों को छोड़ शेष अवधि के लिए ऑनलाइन यात्रा पंजीयन को फिर से चालू करने पर भी बल दिया है ।

Updated : 2017-05-08T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top