Home > Archived > मजदूरों की समस्या का समाधान हर हाल में होगा: श्रम राज्यमंत्री

मजदूरों की समस्या का समाधान हर हाल में होगा: श्रम राज्यमंत्री

आगरा। मैं गरीब बाप को बेटा हूं। मेरे पिता पत्थर की खानों में पत्थर तोड़ा करते थे और मैं स्वयं मजदूरी करता था। मजदूरों की हर समस्या का समाधान हर हाल में होगा। यह बात श्रम एवं सेवायोजक राज्यमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार को संजय प्लेस स्थित यूथ हॉस्टल में उ.प्र. ग्रामीण मजदूर संगठन के सम्मेलन में कहीं।

उन्होंने कहा कि अब तक की सरकारों में जैसा होता आया है, अब वैसा नहीं होगा। समय बदल गया है। अब सबका साथ सबका विकास होगा। उन्होंने सभी से अपील की कि वह अपने आसपास सफाई का विशेष ध्यान रखें और दूसरों को भी प्रेरित करें। इससे पूर्व संगठन के संस्थापक अध्यक्ष पं. तुलाराम शर्मा ने मंत्री को मजदूरों की समस्याओं से सम्बन्धित मुख्यमंत्री के नाम 11 सूत्रीय मांग पत्र दिया। वहीं यू एंड भी फाउंडेशन की सोमा जैन ने भवन एवं अन्य सन्निर्माण बोर्ड को स्वतंत्र इकाई के रूप में विकसित करने के लिए ज्ञापन दिया। जिलाध्यक्ष मुन्ना मिश्रा ने भी ज्ञापन देकर नगर निगम के 1632 ठेका सफाई कर्मचारियों के स्थायीकरण की मांग की। हॉस्टल के प्रबंधक देव राज सिंह ने कहा कि सरकार स्वैच्छिक संस्थाओ को भी प्रोत्साहित करे ताकि श्रमिकों की आवाज सरकार तक पहुंचे सके।

सर्किट हाउस में की समीक्षा बैठक
श्रम एवं सेवायोजक राज्यमंत्री उ.प्र. शासन मनोहर लाल उर्फ मन्नू कोरी द्वारा श्रम विभाग, कारखाना प्रभाग, सेवायोजन विभाग के अधिकारियों की समीक्षा सर्किट हाउस, में की गई। मंत्री द्वारा उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि स्वच्छ भारत मिशन के समस्त अधिकारी अपने अपने कार्यालय में सफाई का विशेष ध्यान रखे ताकि प्रदेश स्वच्छ हो सके। समीक्षा बैठक में श्रम विभाग से सम्बन्धित बिन्दुओं पर उप श्रम आयुक्त, द्वारा अवगत कराते हुए कहा गया कि विगत माह बाल श्रम अधिनियम के तहत विशेष अभियान चलाया गया जिसमें अधिक से अधिक बाल श्रमिकों का चिन्हांकन किया गया जिसके फलस्वरूप आगरा प्रदेश में द्वितीय स्थान पर रहा। इस सम्बन्ध में मंत्री द्वारा निर्देशित किया गया कि बाल श्रमिक का संज्ञान आने पर तत्काल नियमानुसार कार्यवाही की जाये तथा श्रम प्रवर्तन अधिकारियों द्वारा इस सम्बन्ध में सजग दृष्टि रखी जाये। उप श्रम आयुक्त द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि इससे पूर्व चले बाल श्रम अभियान में अधिक बाल श्रमिकों का चिन्हांकन करने के फलस्वरूप जनपद आगरा प्रदेश में प्रथम स्थान पर रहा है। इस पर मंत्री द्वारा विभागीय अधिकारियों को और मनायोग से कार्य करने हेतु निर्देशित किया।

Updated : 2017-05-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top