Latest News
Home > Archived > मकान के विवाद में भाई की पीट-पीटकर हत्या

मकान के विवाद में भाई की पीट-पीटकर हत्या

मकान के विवाद में भाई की पीट-पीटकर हत्या
X

कमरे में पड़ा मिला शव, आरोपी फरार
ग्वालियर|
मकान के बंटवारे को लेकर कई दिनों से हो रहे झगड़े में बीती रात छोटे भाइयों ने बड़े भाई की पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी शव कमरें में पटककर फरार हो गए। मृतक के सिर सहित पूरे बदन में चोटों के निशान हैं। पुलिस ने पड़ोसी की शिकायत पर मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।
थाटीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत दर्पण कॉलोनी स्थित एमआईजी 58 में अशोक अग्रवाल पुत्र वी.आर. आर्य उम्र 55 वर्ष अपने पुश्तैनी मकान में रहते हैं। दो भागों में बंटे इस मकान को लेकर अशोक का अपने भाई सुनील, अनिल और राजू से बंटवारे को लेकर कई वर्षों से विवाद चल रहा है।

शुकवार की रात को राजू और अनिल अग्रवाल एक बार फिर अशोक से बंटवारे को लेकर उलझ गए। बताया गया है कि जब बात ज्यादा बढ़ गई तो दोनों छोटे भाइयों ने मिलकर अशोक की जमकर मारपीट कर दी। अशोक के सिर पर किसी भारी चीज से प्रहार करने से उसकी मौत हो गई। हत्या करने के बाद अशोक का शव उसके कमरे में पटककर अनिल व राजू अपने बच्चों सहित फरार हो गए। बजरिया का रहने वाला ओमी सैनी जब अशोक के घर के सामने से गुजरा तो उसे मामला कुछ संदिग्ध नजर आया। ओमी ने तत्काल पुलिस को सूचना दी। पुलिस खबर मिलते ही मौके पर पहुंच गई। कमरे में अशोक अग्रवाल का शव पड़ा हुआ था। पूरे घर में कोई भी जानकारी देने के लिए मौजूद नहीं था। अशोक के सिर में पत्थर मारकर हत्या को अंजाम दिया गया है। पुलिस ने कमरे का मुआयना करने के बाद शव को विच्छेदन गृह भेजकर फिलहाल मर्ग कायम कर लिया है।

बेटे ने शव लेने से किया इंकार, रुकवाया विच्छेदन:- अशोक का बेटा ऋषभ अग्रवाल दिल्ली में रहता है। फोन से पिता की मौत की सूचना मिलते ही वह ग्वालियर आ गया। विच्छेदन गृह पर पहुंचे ऋषभ ने पिता का शव लेने से इंकार कर दिया। परिवार के सभी लोगों के आने के बाद रविवार को शव विच्छेदन होगा। पुलिस मृतक के परिजनों का इंतजार कर रही है।

कई वर्षों से पूना में रहती है पत्नी
मृतक अशोक की दो बेटी और एक बेटा है, जबकि पत्नी कई वर्षों से छोटी बेटी इवा के साथ पूना में रहती है। अशोक से कई दिनों से कोई मेल-मुलाकात करने भी नहीं आता था। एक भाई सुनील रायपुर तो दूसरा भाई राजू टीकमगढ़ में रहता है।

हत्या करने के बाद मिटाए साक्ष्य
हत्या करने के बाद मृतक अशोक की शर्ट को उतारकर पानी की बाल्टी में धोया गया है, साथ ही पूरे घर को पानी से साफ कर हत्या के साक्ष्य मिटाने का प्रयास किया गया है। पुलिस को घर से धुली हुई शर्ट और कमरे का फर्श साफ किया हुआ दिखा है।

रात को झगड़ा होते और सुबह बिस्तर पर कपड़े बदलते देखा
पुलिस का कहना है कि मृतक अशोक के परिवार का झगड़ा जगजाहिर था। शुक्रवार की रात को ओमी सैनी अशोक के घर के सामने से निकल रहा था, उस समय झगड़ा हो रहा था। सुबह सात बजे के करीब ओमी सैनी एक बार फिर उसी मार्ग से गुजरा तो राजू कमरे में उनको पलंग पर लिटाकर कपड़े बदल रहा था। संभवत: उस समय अशोक की सांस चल रही थी। ऐसा प्रत्यक्षदर्शी ने पुलिस को बताया। मामला ओमी को गड़बड़ लगा तो उसने तत्काल पुलिस को सूचना दी।

एक माह पहले परिवार के साथ आया था राजू
बताया गया है कि राजू टीकमढ़ में रहता है। वह एक माह पहले ही ग्वालियर आया था और वह अशोक से मकान का बंटवारा करने को लेकर झगड़ा कर रहा था। राजू ने अशोक के साथ मारपीट कर हत्या की है।

पुलिस फरियाद सुन लेती तो बच जाती जान
अशोक अग्रवाल के साथ राजू व अनिल ने झगड़ा कर मारपीट कर दी थी। रात को अशोक थाने गया था, लेकिन पुलिस ने उसे चलता कर दिया था। यदि पुलिस उसकी फरियाद सुन लेती तो उसकी जान बच जाती।

इनका कहना है
मकान के बंटवारे को लेकर राजू ने अशोक अग्रवाल की हत्या की है। पूरा परिवार फरार हो गया है। घर में अक्सर लड़ाई-झगड़ा होता रहता था। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

यशवंत गोयल
थाटीपुर थाना प्रभारी

Updated : 2017-05-28T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top