Latest News
Home > Archived > भाजपा के शासन में भी प्राकट्योत्सव पर श्रीजी को शुद्ध जल न मिलने से भक्तों में आक्रोश

भाजपा के शासन में भी प्राकट्योत्सव पर श्रीजी को शुद्ध जल न मिलने से भक्तों में आक्रोश

-प्रधानमंत्री का यमुना को साबरमती बनाने का दावा हुआ खोखला साबित
-विधानसभा चुनाव में चुनावी वैतरिणी पार करने वाले जनप्रतिनिधियों ने भी नहीं दिया इस ओर ध्यान
-श्रीजी के जन्मोत्सव पर शुद्ध जल न मिलना अफसोसजनक-महेश पाठक

मथुरा। श्रीजी को प्रदूषण मुक्त कराने का वायदा कर लोकसभा व विधानसभा चुनाव में विजय श्री प्राप्त करने वाली भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार की कमान संभाल रहे नेताओं द्वारा माँ यमुना के प्राक्ट्योत्सव पर भी शुद्ध जल की व्यवस्था न कराये जाने से यमुना भक्तों में भारी आक्रोश है और वह प्रधानमंत्री व स्थानीय जनप्रतिनिधियों को कोस रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान मथुरा में भाजपा प्रत्याशी हेमामालिनी के प्रचार को आये भाजपा के प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेन्द्र मोदी ने माँ यमुना को साबरमती की तर्ज पर स्वच्छ व निर्मल बनाने का वायदा किया था लेकिन इस दिशा में अब तक कोई ठोस पहल धरातल पर नजर नहीं आ रही है।

यही नहीं इसके बाद पिछले दिनों सम्पन्न हुए विधानसभा चुनावों में भी भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ मथुरा-वृंदावन विधानसभा क्षेत्र से मैदान में उतरे राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने भी चुनावी सभा व जनसंपर्क में यमुना प्रदूषण दूर कराने का दावा किया था लेकिन उत्तर प्रदेश में सरकार बनने के बाद अब तक इस दिशा में कोई पहल नहीं हुई है।

यमुना को स्वच्छ करना भले ही इतनी जल्दी संभव न हो लेकिन इस प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिये कुछ प्रभावी कदम तो उठाये ही जा सकते हैं या फिर समय-समय पर बांधों से स्वच्छ जल छुड़वा कर कुछ समय के लिये श्रीजी की दशा में कुछ सुधार किया जा सकता था लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

यही नहीं हद तो तब हो गयी जब रविवार को श्रीजी के प्राक्ट्योत्सव पर भी यमुना में शुद्ध जल छोडऩे की व्यवस्था नहीं करायी गयी जिसके कारण यमुना भक्तों को जन्मोत्सव पर गंदगी के बीच पूजा-अर्चना व आचमन करने के लिये मजबूर होना पड़ा। जन्मोत्सव के दूसरे दिन यानि सोमवार को यमुना से उठती तीखी दुर्गंध ने लोगों के समक्ष गंभीर समस्या खड़ी कर दी।

देश व उत्तर प्रदेश के अलावा पड़ौसी राज्य हरियाणा में भी भगवा दल की सरकार होने के बावजूद यमुना की अनदेखी और श्रीजी के जन्मोत्सव पर भी शुद्ध जल की व्यवस्था न होने से यमुना भक्तों में भारी आक्रोश है और वे जमकर सरकार की इस लापरवाही को लेकर थू-थू कर रहे हैं।

तीर्थ पुरोहित महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश पाठक ने भाजपा की सरकार में यमुना माँ के जन्मोत्सव पर शुद्ध जल की व्यवस्था न कराने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि पर्वों पर पूर्ववर्ती सरकार के शासन में शुद्ध जल की व्यवस्था तो प्राय: हो ही जाया करती थी लेकिन हिंदूवादी संगठन माने जाने वाले दल की सरकार में ऐसा होना अफसोस जनक है।

Updated : 2017-04-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top