Latest News
Home > Archived > मुख्यालय ग्वालियर में परिवहन विभाग का घटिया प्रदर्शन

मुख्यालय ग्वालियर में परिवहन विभाग का घटिया प्रदर्शन

मुख्यालय ग्वालियर में परिवहन विभाग का घटिया प्रदर्शन
X

प्रदेश में राजस्व वसूली के लक्ष्य पूर्ति से गदगद हुए अधिकारी

ग्वालियर| म.प्र. परिवहन विभाग को वर्ष 2016-17 के लिए शासन से मिला राजस्व वसूली का लक्ष्य 31 मार्च से पहले पूरा कर लिया। परिवहन आयुक्त ने इस उपलब्धि को सोशल साइट वॉट्सअप के माध्यम से मीडिया के साथ साक्षा किया। वहीं विभाग के प्रादेशिक मुख्यालय ग्वालियर जिले में राजस्व वसूली का प्रदर्शन इतना घटिया रहा कि परिवहन आयुक्त ने पूरी जानकारी में इसे उल्लेखित ही नहीं किया।

परिवहन आयुक्त शैलेन्द्र श्रीवास्तव द्वारा जारी लक्ष्यपूर्ति संबंधी विज्ञप्ति के अनुसार वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए 2200 करोड़ रुपये लक्ष्य आवंटित किया गया था, जिसे विभाग ने सफलता पूर्वक अर्जित कर लिया है। परिवहन आयुक्त ने यह भी बताया है कि परिवहन अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अथक परिश्रम से बड़े परिवहन कार्यालयों क्रमश: इंदौर, भोपाल और जबलपुर का बहुत अच्छा प्रदर्शन रहा। मध्यम कार्यालयों में छिंदवाड़ा, उज्जैन एवं रीवा कार्यालय ने भी बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। छोटे कार्यालयों में भिण्ड, दमोह, धार का प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ रहा। वहीं नीमच, बुरहानपुर एवं दतिया कार्यालय आवंटित लक्ष्य से पीछे रह गए तथा इनका प्रदर्शन संतोषजनक नहीं रहा।

परिवहन आयुक्त ने विज्ञप्ति में यह तो बताया कि प्रदेश के अन्य सभी परिवहन कार्यालयों ने भी लक्ष्यप्राप्ति हेतु सराहनीय प्रयास किए, लेकिन कहीं भी मुख्यालय वाले संभाग स्तरीय जिले ग्वालियर का प्रदर्शन और राजस्व वसूली की स्थिति को उल्लेखित नहीं किया। इस संबंध में जानकारी देने से बचने के लिए परिवहन आयुक्त ने न तो मोबाइल उठाया और न ही मोबाइल पर छोड़े गए संदेश का जवाब ही दिया।

किस मद में कितना मिला
जीवनकाल कर (लाइफटाइम टैक्स)-1109 करोड़
मासिक कर - 289 करोड़
त्रैमासिक कर- 431 करोड़
फीस- 229 करोड़
शमन शुल्क- 142 करोड़
(1.80 करोड़ हरितकर, 10.29 करोड़ अंतरण कर)


चैकिंग अभियान में मिले 6.49 करोड़

आयुक्त परिवहन के अनुसार 1 सितम्बर से 9 सितम्बर तक और 1 जनवरी से 15 जनवरी के बीच चलाए गए विशेष चैकिंग अभियान में वाहनों पर की गई चालानी कार्रवाई से 6.49 करोड़ रुपये अर्थदंड के रूप में प्राप्त हुए। प्रवर्तन दल ने 146 करोड़ राजस्व अर्जित किया। इसी प्रकार 193.27 करोड़ पिछले वर्षों के शेष राजस्व को वसूल किया।

Updated : 2017-03-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top