Home > Archived > पांच साल बाद भी नहीं लग पाया एस्केलेटर

पांच साल बाद भी नहीं लग पाया एस्केलेटर

पांच साल बाद भी नहीं लग पाया एस्केलेटर
X

ग्वालियर| ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर वर्ष 2011 में रेलवे द्वारा एस्केलेटर सुविधा प्रारंभ करने की घोषणा की गई थी। घोषणा के पांच वर्ष बीत जाने के बाद भी ग्वालियर मे रेल यात्रियों को रेलवे एस्केलेटर की सुविधा मुहैया नहीं करवा पाया है, हालांकि पिछले दिनों रेलवे ने स्टेशन पर एस्केलेटर लगाने का काम तो शुरू कर दिया है लेकिन यह कब तक पूर्ण होगा यह कहा नहीं जा सकता है। वर्ष 2011 में ग्वालियर सहित जिन रेलवे स्टेशनों पर एस्केलेटर सुविधा प्रारंभ करने की घोषणा की गई थी उनमें से आगरा ओर झांसी में एस्केलेटर लग भी गया, लेकिन ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर यह सुविधा शुरू नहीं होने से रेल यात्री मायूस हैं। रेलवे अधिकारी एस्केलेटर शीघ्र लगाने की बात कहते हैं, लेकिन काम बंद होने से यह कहना मुश्किल है कि यह सुविधा यात्रियों को कब तक मिलेगी।

धूल खा रही एस्केलेटर मशीन:- करीब तीन माह पूर्व एस्केलेटर की मशीन भी ग्वालियर पहुंच गई। इस मशीन को पार्सल आॅफिस के सामने रखवा दिया गया है। मशीन यहां धूल खा रही है और इधर इसे स्थापित करने के लिए जंगला तक नहीं बना है। रेल सूत्रों के अनुसार निर्माण एजेंसी को बिल का भुगतान नहीं हो पाने से काम रुक गया है। जब तक ठेकेदार को अभी तक के काम का भुगतान नहीं होगा काम आगे नहीं बढ़ने वाला है ।

यात्रियों को मिलेगी सुविधा
*यहां एस्केलेटर लगने से बुजुर्ग और बीमार यात्रियों को खासी सुविधा होगी।
* वर्तमान यात्री पुल पर भी भार कम हो जाएगा।
*बजट स्वीकृत होने पर भी एस्केलेटर का काम पूरा न होना समझ से परे है।
*ग्वालियर रेलवे स्टेशन से यहां प्रतिदिन लगभग 80 गाड़ियां गुजरती हंै और से 30 से 40 हजार यात्री आते-आते हैं।

बजट में लिफ्ट की भी हो चुकी है घोषणा
अब उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के सभी बड़े रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधा के मद्देनजर लिफ्ट लगाई जाएगी। इसकी शुरूआत इलाहाबाद जंक्शन से होने जा रही है। वहीं सूत्रों की मानें तो आम यात्रियों को बिना लाइन में लगे सामान्य टिकट मिल जाए इसके लिए 35 स्टेशनों पर आटोमैटिक टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) भी लगाने की योजना पर विचार चल रहा है।

यात्रियों को होती है परेशानी
ए वन ग्रेड के स्टेशनों पर यात्रियों के लिए लिफ्ट की सुविधा नहीं है। जिसमें ग्वालियर रेलवे स्टेशन भी शामिल है। इस वजह से उन यात्रियों को खासी परेशानी होती है, जिन्हें एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर जाने के लिए सीढ़ियों का प्रयोग करना पड़ता है। ऐसे यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने ए वन ग्रेड के कुछ स्टेशनों पर एस्केलेटर लगवाए, लेकिन अभी तक ग्वालियर में एस्केलेटर नहीं लग पाया है।

Updated : 2017-02-05T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top