Top
Home > Archived > तेल चोरी को माफिया ने जमीन के नीचे बना दी सुरंग

तेल चोरी को माफिया ने जमीन के नीचे बना दी सुरंग

रिफाइनरी की भूमिगत पाइप लाइन में फिर लगी सैंध
मथुरा। रिफाइनरी की भूमिगत पाइप लाइन से तेल चोरी करने के लिए माफियाओं द्वारा अपनायी गई कारिस्तानी देख रिफाइनरी के अधिकारी भी दंग रह गये। माफियाओं ने पाइप लाइन से तेल चोरी करने के लिए तेरह फुट गहरी और बासठ मीटर लम्बी सुरंग बना ली और यहां टैंकरों से तेल का कारोबार चलने लगा। प्रेशर कम होने के बाद की गई पड़ताल में रिफाइनरी की पैट्रोलिंग टीम ने डीजल भरे टैंकर को मौके से पकड़ लिया। इस दौरान तेल चोर व टैंकर ड्राइवर भागने में सफल रहे।

मिली जानकारी के अनुसार हाइवे थाना क्षेत्र अंतर्गत नव विकसित रामकृष्ण बिहार कालोनी में सुरंग बना कर रिफायनरी की पाइप लाइन में बाल्व लगाकर तेल चोरी कारोबार का शुक्रवार को रिफायनरी के अधिकारियों ने भण्डाफोड़ किया। पिछले काफी समय से चल रहे इस गोरखधन्धे का गुरूवार रात्रि उस समय पता चला जब रिफायनरी के कम्प्यूटराइज्ड सिस्टम में तेल के प्रेशर और फ्लो में बदलाव नजर आया।

इस पर रिफायनरी अधिकारियों ने पाइप लाइन की पैट्रोलिंग करा कर संदिग्ध स्थानों पर जाँच पड़ताल की और मौके पर जाकर सुरंग के जरिये डाली गयी पाइप लाइन से टैंकर को भरते हुए रंगेहाथों पकड़ लिया। रिफायनरी से जालंधर को जा रही पाइप लाइन से पैट्रोल डीजल की आपूर्ति की जाती है। तथा गुरूवार रात्रि जब इस पाइप लाइन से डीजल की आपूर्ति जालंधर के लिये की जा रही थी ठीक इसी दौरान करीब 12:30 बजे रिफायनरी में लगे कम्प्यूटराइज्ड लीड डीलिंग सिस्टम में तेल के प्रैशर और फ्लो में अन्तर नजर आने लगा तो अधिकारियों का दिमाग ठनका।
रिफायनरी के अधिकारियों ने तुरन्त अपनी पैट्रोलिंग टीम की मदद से पाइप लाइन की पैट्रोलिंग करानी शुरू कर दी। पैट्रोलिंग टीम ने पाइप लाइन के आसपास के सभी संदिग्ध ठिकाने खंगाल डाले। इसी दौरान सैंसर के माध्यम से हाइवे क्षेत्र स्थित नव विकसित रामकृष्ण बिहार कालोनी के एक कच्चे रास्ते की मिट्टी में ट्रक के पहिये के निशान दिखाई दिये तो उन्हें शक हुआ और वे पहियों की दिशा में बढ़ते हुए एक प्लॉट में पहुंचे जहाँ एक टैंकर नजर आया। इसी टैंकर में प्लॉट में बने एक कमरे के जरिये तेल भरा जा रहा था। पैट्रोलिंग टीम ने तुरन्त अधिकारियों और पुलिस को इसकी सूचना देकर मौके पर बुला लिया। लेकिन इसी बीच शक होने पर वहां मौजूद सभी करीब आधा दर्जन लोग वहां से भाग निकले। रिफायनरी टीम ने पुलिस के साथ जब मौके पर जांच पड़ताल कि तो उस कमरे के जरिये पाइप लाइन तक करीब 62 मीटर लम्बी और करीब तेरह फुट ऊंची सुरंग मिली। इस पूरी सुरंग में लाइट की फिटिंग और हवा आने जाने के पाइप भी लगाये हुए थे। इसी सुरंग के जरिये तेल की पाइप लाइन में बॉल्ब लगा कर पाइप लाइन कमरे तक लायी गयी थी।

इस कमरे के सहारे बने एक दूसरे प्लॉट में ऊँची-ऊँची दीवालों के बीच टैंकर खड़ा किया जाता था और पाइप लगा कर उसमें तेल भरा जाता था। रिफायनरी व पुलिस के अधिकारियों ने जेसीबी की मदद से पूरी सुरंग को खोद डाला और पाइप लाइन पर लगे बाल्व को खोज लिया। विशेषज्ञों की मदद से इस बाल्व को हटा कर पाइप लाइन को बन्द कराने का कार्य आरम्भ कर दिया है, जो करीब 10-12 घण्टों तक चलेगा। वहीं रिफायनरी के अधिकारियों ने मौके से डीजल से भर हुआ इण्डियन ऑयल लिखा टैंकर संख्या एचआर 63 7121, हॉज पाइप और अन्य उपकरण बरामद किये है। इस संबंध में रिफायनरी के पाइप लाइन व्यवस्थापन प्रबन्धक वीरेन्द्र कुमार की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की। पुलिस ने उस मकान स्वामी का भी पता कर लिया है, जहां से सुरंग बनाई गयी थी। इस संबंध में सीओ रिफाइनरी कुंवर अनुपम सिंह ने बताया कि भूमिगत पाइप लाइन में वॉल्व फिट कर तेल चोरी किया जा रहा था। यह तेल माफिया का बड़ा कारनामा है। जल्द ही आरोपी पुलिस की पकड़ में होंगे।

रिफायनरी के टेलिकॉम और इन्स्ट्रूमेंशन विभाग के उप प्रबन्धक अभिनव मिश्रा के अनुसार सुरंग बना कर सेंधमारी के जरिये तेल चोरी होने का यह मामला पिछले दिसम्बर माह से भी पहले से चलता हुआ प्रतीत होता है।

पिछले काफी समय से हमारे कम्प्यूटराइज्ड लीड डीलिंग सिस्टम में प्रैशर और फ्लो में बदलाव की शिकायते आ रही थी और हमने कई बार पैट्रोलिंग करा कर खोजबीन भी की लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लग सकी थी। बीती रात हमारी पैट्रोलिंग टीम ने यह मामला पकड़ कर सफलता हासिल की है। रिफायनरी के पाइप लाइन व्यवस्थापन प्रबन्धक वीरेन्द्र कुमार ने बताया कि इस सेंधमारी के जरिये अब तक करीब 60 से 70 हजार लीटर तेल चोरी होने का अनुमान लगाया जा रहा है। चोरी गये तेल की कीमत 50 लाख रूपये से भी ऊपर बतायी जा रही है। हालांकि कुछ जानकारों का कहना है। अब तक चोरी गये तेल की कीमत करोड़ों रूपयों से भी ऊपर होनी चाहिये।

Updated : 2017-02-18T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top