Latest News
Home > Archived > मुख्यमंत्री शिवराज बोले - प्रदेश में सहरिया जनजाति के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेगी सरकार

मुख्यमंत्री शिवराज बोले - प्रदेश में सहरिया जनजाति के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेगी सरकार

मुख्यमंत्री शिवराज बोले - प्रदेश में सहरिया जनजाति के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेगी सरकार
X

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में सबसे पिछड़ी जनजातियों में शामिल सहरिया जनजाति के विकास के लिये कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी। सहरिया जनजाति के विकास और कल्याण के लिये सभी सम्भव प्रयास किये जाएंगे। मुख्यमंत्री गुरूवार शाम को अशोकनगर जिले के मुंगावली जनपद के धार्मिक स्थल करीला धाम में सहरिया विकास सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने करीला धाम में जानकी माता मंदिर के निर्माण के लिये पौने 6 करोड़ रुपये की स्वीकृति भी प्रदान की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में शबरी माता का मंदिर जहाँ है, वहीं उनका भव्य मंदिर बनवाया जायेगा। उन्होंने इसके लिये जमीन आवंटन की विधिवत कार्यवाही शीघ्र करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि सहरिया समुदाय के बच्चों को बेहतर शिक्षा के अवसर मुहैया कराने के लिये 17 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत से इंदौर और ग्वालियर में छात्रावास भवन बनवाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने सहरिया समुदाय को नशा नहीं करने और समाज को नशामुक्त बनाने, प्रत्येक बच्चे को स्कूल भेजने और अपनी जमीन के टुकड़े को कभी नहीं बेचने तथा अपने समुदाय में बाल विवाह नहीं होने देने का संकल्प दिलवाया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में उपस्थित साधु-संतों का शॉल-श्रीफल भेंटकर सम्मान किया और लाभान्वित हितग्राहियों को प्रमाण-पत्र वितरित किये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सहरिया समुदाय में कुपोषण को दूर करने के लिये सहरिया बहनों के बैंक खातों में अब हर माह एक हजार रुपये की राशि जमा करवाई जायेगी। इससे वे अपने बच्चों को अच्छा पोषण-आहार खिला सकेंगी। उन्होंने कहा कि सभी गरीब एवं सहरिया परिवारों को पक्का मकान दिया जायेगा। जिन सहरिया परिवारों को अब तक वनाधिकार के पट्टे नहीं मिले हैं, उनका सर्वे करवाया जायेगा और उन्हें वनाधिकार के पट्टे दिलवाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने सहरिया समुदाय के बच्चों को स्व-रोजगार स्थापित करने के लिये कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिलाने का भरोसा भी दिलाया। उन्होंने कहा कि इस समुदाय के 10 हजार बच्चों को आईटीआई में स्व-रोजगार का प्रशिक्षण दिलवाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक सहरिया परिवार के घर को बिजली से जोड़ा जायेगा। अब प्रत्येक गरीब परिवार के घर में बिजली के बदले महीने में सिर्फ 200 रुपये ही देने होंगे। इसके लिये मीटर की जरूरत नहीं होगी।

मुख्यमंत्री ने सपत्नीक करीला धाम में जानकी माता मंदिर में पूजा-अर्चना की। मुख्यमंत्री शबरी माता मंदिर भी गये। मुख्यमंत्री ने करीला में 10 वर्षीय अभिषेक ओझा की पढ़ाई की व्यवस्था कराने के निर्देश कलेक्टर को दिये। अभिषेक ने मुख्यमंत्री को बताया था कि उनके पिता का निधन हो चुका है, जिस कारण उसे पढ़ाई बीच में ही छोडऩी पड़ी है। कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव, गृह मंत्री भूपेन्द्र सिंह, लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह, जिले के प्रभारी मंत्री जयभान सिंह पवैया एवं सांसद प्रभात झा भी मौजूद थे।

Updated : 2017-12-29T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top