Home > Archived > फर्जी बैंक खाता खोलकर चपत लगाने वाला दबोचा

फर्जी बैंक खाता खोलकर चपत लगाने वाला दबोचा

फर्जी बैंक खाता खोलकर चपत लगाने वाला दबोचा
X

ग्वालियर। फर्जी बैंक खाता खोलकर यूको बैंक से लाखों रुपए ट्रांसफर करने वाले मास्टर माइंड को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिस व्यक्ति के बैंक खाते में रकम ट्रांसफर हुई थी, उसे पुलिस पश्चिम बंगाल से पहले ही पकड़ लाई थी। यह संगठित गिरोह मिलकर कई राज्यों में लोगों की रकम हड़प कर चुका है। पुलिस आरोपी से अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ कर रही है।

पुलिस अधीक्षक डॉ. आशीष ने जानकारी देते हुए बताया कि यूकों बैंक हजीरा से 29 सितम्बर 2017 को विवेक राजपूत के बैंक खाते से 9 लाख 57 हजार 800 रुपए ट्रांसफर किए गए थे। फरियादी की शिकायत पर बैंक प्रबंधक पी.के. श्रीवास्तव ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने लाखों रुपए खाते से ट्रांसफर करने वाले आरोपी सत्यजीत निवासी बारासात शांतिनगर कोलकाता से गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले हजीरा पुलिस पश्चिम बंगाल से कुछ दिन पहले सोमनाथ को गिरफ्तार करके लाई थी। सोमनाथ के बैंक खाते में रकम ट्रांसफर हुई थी। पुलिस द्वारा सोमनाथ से सघन पूछताछ करने पर हर बार उसने एक ही बात दोहराई थी कि उसे रकम और बैंक खाते के बारे में कुछ भी पता नहीं है। इस पर पुलिस ने एक बार फिर कोलकाता की ओर कूच किया और सत्यजीत को गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की। आरोपी सत्यजीत अलग-अलग लोगों की फोटो व आईडी लगाकर फर्जी बैंक खाते खोलकर दूसरे के नाम से रकम ट्रांसफर करने में मास्टर माइंड है। सत्यजीत ने सोमनाथ का फोटो लगाकर बैराकपुर कोलकाता में एसबीआई बैंक में फर्जी खाता खुलवाया था। इसके बाद हेराफेरी कर यूकों बैंक हजीरा से रकम उसके खाते में ट्रांसफर करवा ली। सत्यजीत के साथ उसका पूरा गिरोह है, जो इस गोरखधंधे में शामिल है। पुलिस सत्यजीत के साथियों को गिरफ्तार करने के लिए जुटी हुई है। आरोपी से अन्य वारदातों के बारे में सघनता से पूछताछ की जा रही है।

एसपी ने टीम को दिया इनाम

कोलकाता से आरोपी सत्यजीत को पकड़कर लाने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक डॉ. आशीष ने इनाम देने की घोषणा की है। हजीरा थाना प्रभारी अमित भदौरिया और उनकी टीम ने यह सफलता अर्जित की है।

दूसरे राज्यों के गिरोह की नजर ग्वालियर में

अभी तक भाड़े के शूटर शहर में आकर वारदात करते थे, जिसके लिए यह शहर कई बार बदनाम भी हुआ, लेकिन पुलिस ने हाल ही में दो ऐसे गिरोहों का पर्दाफाश किया है, जो हजारों कि.मी. दूर से आकर शहर में लोगों को ठगी का शिकार बना रहे थे। राह चलती महिलाओं के जेवरात उतरवाने वाले ठग उत्तराख्ांड से आते थे। इसी प्रकार लूटपाट के मामलों में बिहार और पश्चिम बंगाल के बदमाशों के नाम सामने आए हैं। बैंक खाते से रकम ट्रांसफर करने वाला मास्टर माइंड सत्यजीत कोलकाता का रहने वाला है। हजारों कि.मी. दूर से आकर बदमाश पुलिस को चुनौती दे रहे हैं।

लाखों की लूट के आरोपी अब तक बेसुराग

आज भी पुलिस लाखों रुपए की लूट की वारदातों का पर्दाफाश नहीं कर सकी है। सिटी सेंटर, पड़ाव और माधौगंज थाना क्षेत्र में बदमाश दिनदहाड़े फरियादियों से लाखों रुपए लूटकर भाग गए थे। पुलिस इन बदमाशों को पकड़ने पश्चिम बंगाल गई थी, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी थी। लूट के मामले में कुछ संदेही भी पुलिस के हाथ आए थे, लेकिन पुलिस उनसे राजफाश नहीं करा सकी थी।

Updated : 2017-11-21T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top