Top
Home > Archived > अवैध खनन रोकने अभयारण्य में पहुंचा पूरा वन मंडल

अवैध खनन रोकने अभयारण्य में पहुंचा पूरा वन मंडल

अवैध खनन रोकने अभयारण्य में पहुंचा पूरा वन मंडल

-खाड़ी नाला और महुआ खेड़ा में नष्ट किया 12 घनमीटर फर्शी पत्थर
-भारी वन अमले को देखते ही भाग निकले माफिया
ग्वालियर। सोनचिरैया अभयारण्य घाटीगांव के संरक्षित वन क्षेत्रों में आए दिन किए जा रहे अवैध खनन को रोकने के लिए बुधवार को पूरा वन मंडल खाड़ी नाला और महुआ खेड़ा के जंगल में जा पहुंचा, जहां भारी भरकम वन अमले को देखते ही अपने मजदूरों को साथ लेकर खनन माफिया भाग निकले। इस दौरान मौके पर रखा मिला लगभग 12 घनमीटर फर्शी पत्थर को तोड़-फोड़कर नष्ट करने की कार्रवाई की गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोनचिरैया अभयारण्य घाटीगांव की गैमरेंज घाटीगांव के संरक्षित वन क्षेत्रों में आए दिन अवैध खनन के मामले सामने आ रहे हैं। इसके चलते वन संरक्षक विक्रम सिंह परिहार के निर्देश पर बुधवार को प्रभारी अभयारण्य अधीक्षक जी.एल. जौनवार एवं उप वन मंडल अधिकारी ग्वालियर जी.के. चंद के नेतृत्व में 10 वाहनों के साथ वन अमला कार्रवाई के लिए भेजा गया। इस दल में घाटीगांव उत्तर, घाटीगांव दक्षिण, गैमरेंज घाटीगांव, गैमरेंज तिघरा एवं ग्वालियर रेंज के रेंजरों सहित करीब एक सैकड़ा वन कर्मचारी और उड़नदस्ता स्टाफ तथा घाटीगांव थाने का पुलिस बल शामिल था। यह भारी भरकम अमला दोपहर करीब 12.30 बजे घाटीगांव गैमरेंज पहुंचा और अवैध खनन की दृष्टि से संवेदनशील वन क्षेत्रों का औचक भ्रमण किया।

बताया गया है कि वन अमले के जंगल में दाखिल होने की खबर खनन माफिया को पहले ही मिल गई। इसके चलते वे अपने मजदूरों सहित मौके से भागने में सफल हो गए। औचक भ्रमण के दौरान खाड़ी नाला क्षेत्र में करीब सात घनमीटर और महुआ खेड़ा क्षेत्र में करीब पांच घनमीटर फर्शी पत्थर रखा मिला, जिसे तोड़-फोड़कर मौके पर ही नष्ट कर दिया गया। इस मामले में अज्ञात लोगों के विरुद्ध दो अलग-अलग वन अपराध दर्ज किए गए हैं। यहां उल्लेखनीय है कि विगत शनिवार को महुआ खेड़ा में अवैध खनन के विरुद्ध कार्रवाई के दौरान खनन माफिया और उसके लोगों ने वन अमले पर पथराव कर दिया था। इस हमले में अभयारण्य अधीक्षक के वाहन के कांच फूट गए थे और वाहन चालक चोटिल होते-होते बचा था। हमलावरों की संख्या 60 से 70 थी, जबकि वन कर्मचारी मात्र से 20 थे। इस कारण मौके पर घाटीगांव थाने से पुलिस बल को बुलाना पड़ा था। इसके बाद ही वन अमला वहां रखा अवैध फर्शी पत्थर जब्त कर पाया था। इसी घटना से सबक लेते हुए बुधवार को भारी अमला कार्रवाई के लिए भेजा गया था।

इनका कहना है

‘‘बुधवार को पूरे वन मंडल से अमले को एकत्रित कर महुआ खेड़ा और खाड़ी नाला वन क्षेत्रों में खनन माफिया के विरुद्ध कार्रवाई की गई। इस दौरान दोनों स्थानों से लगभग 12 घनमीटर फर्शी पत्थर जब्त कर मौके पर ही नष्ट किया गया। इस प्रकार की कार्रवाई आगामी दिनों में भी जारी रहेगी।’’

जी.एल. जौनवार
प्रभारी अधीक्षक
सोनचिरैया अभयारण्य घाटीगांव

Updated : 2017-11-16T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top