Latest News
Home > Archived > भारत और मिस्र पर लंबे समय तक रहा सब्सिडी का बोझ : विश्व बैंक

भारत और मिस्र पर लंबे समय तक रहा सब्सिडी का बोझ : विश्व बैंक

भारत और मिस्र पर लंबे समय तक रहा सब्सिडी का बोझ : विश्व बैंक
X

पटना। विश्व बैंक में मिस्र, यमन और जिबूती के कंट्री हेड डॉ. असद आलम ने गुट निरपेक्ष आंदोलन (नाम) के संस्थापक सदस्य रहे भारत और मिस्र की अर्थव्यवस्था और सरकार की नीतियों की समानताओं का उल्लेख करते हुये कहा कि दोनों देश काफी लंबे समय तक सब्सिडी के बोझ से दबे रहे हैं। डॉ. असद ने एशियाई विकास शोध संस्थान (आद्री) में आयोजित संगोष्ठी को संबोधित करते हुये कहा कि भारत और मिस्र काफी लंबे समय तक सब्सिडी पर खर्च होने वाली बड़ी राशि के बोझ से दबे रहे हैं। उन्होंने कहा कि सब्सिडी देने के कारण ही मिस्र में करीब 20 वर्ष तक पेट्रोल की कीमत में कोई बदलाव नहीं हुआ और जब सब्सिडी का दायरा बढकर शत-प्रतिशत हो गया तथा शिक्षा और स्वास्थ्य पर खर्च की जाने वाली राशि सब्सिडी के व्यय से अधिक हो गया तो इसके दुष्परिणामों को देखते हुये देश के लोग सडकों पर उतर आये। उन्होंने कहा कि मिस्र सरकार ने देश के हालात को देखते हुये पिछले कुछ वर्षों के दौरान आर्थिक सुधार की गति को काफी तेज कर दी। उन्होंने कहा कि सुधार के तहत ही पिछले तीन साल में सब्सिडी में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का तीन प्रतिशत तक की कटौती की गई है।

Updated : 2017-11-11T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top