Top
Home > Archived > अमित शाह बोले - मोदी सरकार की अगुवाई में होगा आदिवासी समुदाय का पूर्ण विकास

अमित शाह बोले - 'मोदी सरकार' की अगुवाई में होगा आदिवासी समुदाय का पूर्ण विकास

अमित शाह बोले - मोदी सरकार की अगुवाई में होगा आदिवासी समुदाय का पूर्ण विकास

नई दिल्ली। आदिवासी समाज औऱ उनके शहीदों को सम्मान देने के झारखंड सरकार के प्रयासों की भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सराहना की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में केंद्र सरकार जिस तरह से काम कर रही है उससे पूर्वोत्तर के साथ-साथ संपूर्ण देश में जनजाति बाहुल्य क्षेत्रों के सर्वांगीण विकास की स्वराज से सुराज की यात्रा शीघ्र पूरी होगी|

शाह ने अपने ब्लॉग में कहा है कि झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास की सरकार ने पूर्व में पारंपरिक रूप से शहीदों को दी जाने वाली पुष्पांजलि को विकास का रंग देकर इसे कार्यांजलि में बदल दिया है| मैं झारखण्ड सरकार और उसके मुखिया रघुबर दास को शहीदों को सम्मान देने के इस अनूठे प्रयास के लिए बधाई देता हूँ|
शाह ने कहा कि देश की स्वतंत्रता की लड़ाई में जनजाति और दलित समाज का महत्वपूर्ण योगदान रहा है और उन्होंने अनेकों बलिदान दिए। परन्तु दुर्भाग्यवश इतिहासकारों ने उन्हें वह मान्यता नहीं दी जिसके वह हकदार थे। अगर हम झारखंड की बात कहें तो भगवान बिरसा मुंडा, सिद्धु कान्हु, नीलाम्बर, पीताम्बर, गया मुंडा और तेलंगा खडिया इत्यादि जैसे अनेकों देशभक्त आदिवासी सूरमाओं ने देश के लिए बलिदान देकर झारखण्ड और मां भारती की सेवा की। भगवान बिरसा मुंडा ने तो सिर्फ 20 वर्ष की अल्पायु में लगान माफी के लिए अंग्रेजों के खिलाफ आन्दोलन किया और दो वर्षों तक कारागार में रहे ।

उन्होंने आगे लिखा है कि भारत में लगभग 9 फीसदी आबादी आदिवासियों की है जो कि देश के हर कोने में विभिन्न नामों से जाने जाते हैं। हमारी सभ्यता के संवर्धन में आदिवासियों की अहम भूमिका है क्योंकि उन्होंने आज भी अपने रीति-रिवाजों को संभाल कर रखा है।

शाह ने कहा कि लम्बे समय तक सरकार में न रहने के बावजूद भाजपा और उसके वैचारिक परिवार के वनवासी कल्याण आश्रम जैसे अनेकों संगठनों ने जनजातियों के विकास के अविरल प्रयास किये हैं। पूर्व में जनजातीय विकास कार्यों को सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के अंतर्गत किया जाता था और इस विषय के लिए कोई समर्पित मंत्रालय नहीं था। 1999 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने आदिवासियों के विकास के लिए एक पृथक “जनजातीय कार्य मंत्रालय” की स्थापना की।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि केंद्र की मोदी सरकार ने जनजातियों के विकास के लिए कई कदम उठाये हैं जिनमे से सबसे प्रमुख 2014 में शुरू की गई “वनबन्धु कल्याण योजना” है जिसके अंतर्गत जनजाति आबादी वाले विकास प्रखंडों में अनेकों काम किये जा रहे हैं| उन्होंने विश्वास जताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार जिस तरह से काम कर रही है उससे पूर्वोत्तर के साथ-साथ संपूर्ण देश में जनजाति बाहुल्य क्षेत्रों का सर्वांगीण विकास होगा और उनकी स्वराज से सुराज की यात्रा शीघ्र पूरी होगी|

Updated : 2017-10-06T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top