Home > Archived > पीयूष गोयल ने कहा - विकास की राह पर चल पड़ा है झारखंड

पीयूष गोयल ने कहा - विकास की राह पर चल पड़ा है झारखंड

पीयूष गोयल ने कहा - विकास की राह पर चल पड़ा है झारखंड
X

रांची। रेल व कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि झारखंड अब विकास की राह पर चल पड़ा है। विकास का दूसरा नाम रघुवर सरकार है। देश में विकास के क्षेत्र में समर्पित व्यक्तियों में से एक रघुवर दास हैं। राज्य में रेलवे में केंद्र सरकार वर्ष 2017-18 के दौरान 3850 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है, जो पिछली केंद्र सरकार के 850 करोड़ रुपये की तुलना में चार गुणा ज्यादा है। पीयूष गोयल सोमवार को धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में आयोजित झारखंड माइनिंग शो 2017 तथा ग्लोबल माइनिंग एंड मिनिरल समिट के उदघाटन के बाद बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि नक्सल की समस्या के संबंध में बात करने पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने काफी सकारात्मक जवाब दिया। उन्होंने कहा कि आज रेलवे का काम शुरू करें, राज्य सरकार 24 घंटे फोर्स देकर काम पूरा करायेगी। रघुवर दास ने बड़ा विजन रखते हुए देश की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी शुरू की है, जो झारखंड के बच्चों के साथ ही देश के होनहार बच्चों को खेल में तैयार करेगी। उन्हें फ्री शिक्षा, अच्छा रहन-सहन, बेहतरीन ट्रेनिंग आदि देकर खिलाड़ी तैयार किया जायेगा। अभी तक 178 बच्चों का इसमें नामांकन किया जा चुका है। 2022 तक 1400 बच्चों का नामांकन किया जाना था, लेकिन मुख्यमंत्री ने अगले साल 1400 बच्चों का नामांकन का लक्ष्य रखा है, जो काफी उत्साहजनक है। कोयला मंत्री ने कहा कि खनिज क्षेत्रों के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से बनाये गये ड्रिस्ट्रिक मिनरल फंड का सबसे अच्छा, ईनामदार और पारदर्शी तरीके से जैसे उपयोग झारखंड ने किया है, वैसा पूरे देश में किसी दूसरे राज्य ने नहीं किया है।

इसका इस्तेमाल लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने, शिक्षा व स्वास्थ्य के लिए किया जा रहा है। कार्यक्रम के दौरान झारखंड सरकार व कोल इंडिया के बीच करार भी हुआ। इसके तहत कोल इंडिया की खदानों का पानी राज्य सरकार को फ्री उपलब्ध कराया जायेगा। राज्य सरकार इसे प्रोसेस कर पीने लायक बनाकर स्थानीय लोगों को उपलब्ध करायेगी। कार्यक्रम में ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, जल संसाधन मंत्री सीपी चौधरी, खेल मंत्री अमर कुमार बाउरी, केंद्रीय कोयला सचिव सुशील कुमार, मुख्य सचिव राजबाला वर्मा, उद्योग सचिव सुनील कुमार बर्णवाल, अडाणी ग्रुप के प्रबंध निदेशक राजेश अडाणी, कोल इंडिया के कार्यकारी अध्यक्ष गोपाल सिंह, एचइसी के सीएमडी अभिजीत घोष, पीइएमएल के सीएमडी डीके होता समेत बड़ी संख्या में निवेशक व अन्य लोग उपस्थित थे।

Updated : 2017-10-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top