Top
Home > Archived > कम्पाउण्डर को सौंपा फार्मासिस्ट का काम

कम्पाउण्डर को सौंपा फार्मासिस्ट का काम

चहेते को लाभ पहुंचाने सौंपी दवा स्टोर की कमान

ग्वालियर। स्वास्थ्य अधिकारी इन दिनों सिर्फ अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए अपनी मनमानी करने में लगे हैं। लेकिन मरीजों की परेशानी पर किसी भी अधिकारी का ध्यान नहीं जाता ।

जानकारी के अनुसार विगत दिनों भोपाल में स्वास्थ्य विभाग के मेनेजिंग डायरेक्टर पंकज जैन के साथ स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक हुई थी, जिसमें श्री जैन ने स्वास्थ्य अधिकारियों को फटकार लगाते हुए जिला अस्पताल के स्टोर कीपर विकास यादव को हटाने के निर्देश दिए थे। इस के पीछे कारण श्री यादव के खिलाफ शासकीय कामों में लापरवाही, संस्थाओं के बिल समय पर पास ना करना सहित संस्थान के स्टाफ को परेशान करने जैसी कई शिकायतें थीं। इसके साथ ही स्टोर कीपर विकास यादव पर निजी संस्थाओं से पैसे लेने के भी आरोप लगे हुए थे, जिसके चलते मैनेजिंग डायरेक्टर द्वारा सिविल सर्जन से विकास यादव को हटाने की बात कही गई थी। इसके बाद अधिकारियों ने श्री यादव से चार्ज तो वापस ले लिया, लेकिन इसके साथ ही स्टोर की कमान कम्पाउण्डर रविन्द्र कुशवाह को सौंप दी है। जबकि शासन के नियम अनुसार किसी भी अस्पताल के दवा वितरण केन्द्र पर सिर्फ फार्मेसिस्ट द्वारा ही दवाओं का वितरण कराया जा सकता है। लेकिन यहां से तो स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा पूरे शहर में दवा सप्लाई होती है, उसकी कमान ही कम्पाउण्डर को सौंप दी गई है। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि किस तरह स्वास्थ्य अधिकारी अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने में लगे हुए हैं।

दो घन्टे दवा के लिए मरीज रहे परेशान
स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण जिला अस्पताल में मरीज दवा के लिए दो घण्टे तक भटकते रहे। उल्लेखनीय है कि गुरूवार को स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती सूरज डमोर द्वारा निरीक्षण के दौरान दवा वितरण केन्द्र पर मिली लापरवाही के कारण दो फार्मासिस्टों को निलंबित करने के आदेश दिए गए थे। इस पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा उन्हें तो वहां से हटा दिया गया, लेकिन दवा वितरण केन्द्र पर किसी अन्य फार्मासिस्ट की व्यवस्था नहीं की गई, जिसके चलते शुक्रवार की सुबह दो घण्टे तक दवा वितरण केन्द्र पर कोई भी फार्मोसिस्ट नहीं पहुंचा जिसके चलते मरीज दवा के लिए लाइन में खड़े रहे। इसके बाद मरीज आरएमओ डॉ. सुनील शर्मा के पास पहुंचे, जिस पर डॉ. शर्मा ने तत्काल फार्मासिस्ट अशोक शर्मा एवं पी.एन शर्मा को दवा वितरण केन्द्र पर भेजा।

इनका कहना है

''अभी हमारे पास कोई भी अनुभवी फार्मासिस्ट नहीं है, इस लिए अभी कम्पाउण्डर को चार्ज दिया गया है।''

डॉ. डी.डी. शर्मा
सिविल सर्जन

Updated : 2016-06-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top