Top
Home > Archived > हत्या के आरोपी ने थाना प्रभारी को गोली मारी

हत्या के आरोपी ने थाना प्रभारी को गोली मारी

हत्या के आरोपी ने थाना प्रभारी को गोली मारी

बरई के जंगल में हुआ सामना, आरोपी फरार

ग्वालियर। घाटीगांव में हुई बालक की हत्या के आरोपियों को पकडऩे गई पुलिस पार्टी पर बदमाशों ने गोली चला दी, गोली थाना प्रभारी के पैर में लगी है, जबकि थाना प्रभारी ने चार राउंड गोलिया ंचलार्इं लेकिन आरोपी बच निकलने में कामयाब हो गए। घायल थाना प्रभारी को उपचार के लिए जयारोग्य अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। पनिहार थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

उल्लेखनीय है कि ग्राम महुआखेड़ा निवासी दीवानसिंह गुर्जर के बेटे अनूप का शव सोमवार को जंगल में पत्थर के नीचे दबा मिला था। दीवान ने आशंका जताई थी किअनूप की हत्या में गांव में ही रहने वाले गोपाल गुर्जर का हाथ है। घाटीगंाव थाना प्रभारी रमेश शाक्य को सूचना मिली थी कि गोपाल गुर्जर और उनके भाई पनिहार थाना क्षेत्र में स्थित बरई के जंगल में मंशापूर्ण मंदिर के पास बकरियां बेचने के लिए आए हुए हंै। थानाप्रभारी शाक्य सुबह दस बजे के करीब अपनी टीम के साथ जंगल में पहुंच गए, पुलिस को देखते ही गोपाल सतर्क हो गया और उसने बिना समय गंवाए 315 बोर के कट्टे से थाना प्रभारी रमेश शाक्य पर गोली चला दी, गोली थाना प्रभारी के पैर में लगने से वह घायल हो गए। बताया गया है कि श्री शाक्य ने भी अपनी सर्विस रिवाल्वर निकाल ली थी और गोपाल पर चार रांउड गोलियां चलाई लेकिन फिर भी बदमाश मौके से फरार हो गए। गोपाल गुर्जर के साथ उसके भाई रामवीर, बंटी, सतीश, जगदीश व रिन्कू पुत्रगण कप्तानसिंह गुर्जर भी थे। घायल रमेश शाक्य को तुरंत जयारोग्य के ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया गया जहां पर उनके पैर का ऑपरेशन कर गोली निकाली गई। अब उनकी हालत सामान्य है। पनिहार थाना पुलिस ने हमलावरों पर मामला दर्ज कर उनकी तलाश में छापामार कार्रवाई शुरू कर दी है।

कहां हो गई पुलिस से चूक
घायल थाना प्रभारी रमेश शाक्य ने इस सवांददाता को बताया कि गोपाल गुर्जर से जंगल में सामना हो गया तो हम उसको योजना के तहत पकडऩे के लिए आगे बढ़ रहे थे लेकिन उसने सादा वर्दी में भी पुलिस को पहचान लिया और गोली चला दी। गोपाल ने पत्थर की आड़ लेकर गोली चलाई थी, स्वंय उन्होंने चार रांउड गोलियां चलाई थीं लेकिन गोपाल बचकर भाग निकला। जिस समय पुलिस जंगल में गोपाल को पकडऩे के लिए गई थी उस समय चार पांच जवान और थे। पुलिस से कहीं न कहीं चूक तो हुई है जिससे बदमाश उनके हाथ से निकल गए।

पुलिस खरीदार बनकर गई थी जंगल
बताया गयाहै कि गोपाल गुर्जर को अनूप की हत्या के मामले में पुलिस लगातार तलाश कर रही है, इसलिए वह चेारी छिपे अपने घर के माल को ठिकाने लगा रहा है। पुलिस ने उसे पकडऩे के लिए जाल बिछाया और उसकी बकरियों को खरीदने के लिए जंगल में पहुंच गई, जंगल में गोपाल पुलिस को पहचान गया और उसने गोली चला दी। पुलिस का दावा है कि गोपाल को जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। फिलहाल वह पुलिस पकड़ से दूर निकल गया है।

पुलिस अधीक्षक पहुंचे थाना प्रभारी को देखने
पुलिस अधीक्षक हरिनारायण चारी मिश्रा घायल थानाप्रभारी रमेश शाक्य को देखने के लिए ट्रोंमा सेंटर पहुंचे और उनका हालचाल पूछा। इस मौके पर उनके साथ में देहात एएसपी योगेश्वर शर्मा भी थे। उधर श्री शाक्य के परिजनों को जैसे ही घटना की जानकारी हुई,वह भी अस्पताल पहुंंच गए।

Updated : 2016-06-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top