Latest News
Home > Archived > भारत-पाक के बीच सतत वार्ता महत्वपूर्ण: अमेरिका

भारत-पाक के बीच सतत वार्ता महत्वपूर्ण: अमेरिका

भारत-पाक के बीच सतत वार्ता महत्वपूर्ण: अमेरिका

वाशिंगटन। अमेरिका ने भारत और पाकिस्तान से द्विपक्षीय संबंधों में सुधार का आह्वान किया है। इसके साथ ही उसने दक्षिण एशिया में परमाणु एवं मिसाइल प्रणालियों के विकास पर चिंता जताई है।

अमेरिका का कहना है कि दोनों पड़ोसियों के बीच सतत और सुगम वार्ता प्रक्रिया महत्वपूर्ण है। अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि हम दक्षिण एशिया में परमाणु एवं मिसाइलों के क्षेत्र में हो रहे विकास को लेकर चिंतित हैं। प्रवक्ता ने यह बात तब कही जब उनसे पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम के सृजक डॉ. अब्दुल कदीर खान द्वारा हाल में दिए गए उस बयान के बारे में पूछा गया जिसमें उन्होंने कहा था कि इस्लामाबाद के पास पांच मिनट के भीतर नयी दिल्ली को निशाना बनाने की क्षमता है।

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि हम बढ़ती सुरक्षा चुनौतियों और इस बढ़ते जोखिम को लेकर चिंतित हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच पारंपरिक संघर्ष का नतीजा परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के रूप में सामने आ सकता है। अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि भारत-पाक के द्विपक्षीय संबंधों में सुधार से क्षेत्र में स्थाई शांति, स्थिरता तथा समृद्धि की संभावना बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि दोनों पड़ोसियों के बीच सतत एवं सुगम वार्ता प्रक्रिया चलती रहे और क्षेत्र में सभी पक्ष तनाव घटाने की दिशा में लगातार अधिकतम संयम के साथ मिलकर काम करें।

Updated : 2016-06-01T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top