Latest News
Home > Archived > मेडीसिन वार्ड मेें प्रभारी मंत्री को आया पसीना

मेडीसिन वार्ड मेें प्रभारी मंत्री को आया पसीना

अधिकारियों पर भड़के, व्यवस्थाओं में सुधार के दिए निर्देश जयारोग्य का किया निरीक्षण

ग्वालियर। जयारोग्य चिकित्सालय का औचक निरीक्षण करने पहुंचे प्रभारी मंत्री जयंत मलैया को यहां भारी अव्यवस्थाएं मिलीं। इस दौरान जहां मरीजों ने उन्हें बताया कि दवाएं नहीं मिल रहीं। वहीं जब वे स्वयं मेडीसिन मेल वार्ड एक में गए तो वहां पसीना-पसीना हो गए। क्यों कि इस वार्ड में इस भीषण गर्मी से बचाव के माकूल इंतजाम नहीं थे। यह देखकर वह भड़क गए।

अव्यवस्थाओं से नाराज श्री मलैया ने जयारोग्य चिकित्सालय ग्वालियर-चंबल संभाग का सबसे बड़ा चिकित्सालय है। इसलिये यहां की सेवायें हर समय सुदृढ़ रहें। यह निर्देश जिले के प्रभारी एवं वित्त व जल संसाधन मंत्री जयंत मलैया ने जीआर मेडीकल कॉलेज के डीन व जेएएच समूह के अधीक्षक को बुधवार को निरीक्षण के दौरान दिए। निरीक्षण के दौरान उन्होंने भर्ती मरीजों से पूछा की उन्हों दवा एवं खाना समय पर मिलता है या नहीं, जिस पर कुछ मरीजों ने कहा कि ना तो उन्हें दवाएं मिलती हैं, दवाओं के नाम पर पर्ची हाथ में थमा दी जाती है, और उपचार के लिए भी कई दिनों तक इंतजार करना पड़ता हैं। वहीं कुछ मरीजों ने सारी व्यवस्थओं को दुरूस्त बताया।

निरीक्षण कर रहे मंत्री जैसे ही मेडिसिन के मेड वार्ड-1 में घुसे तो वहां गर्मी के कारण मंत्री जी को पशीना आने लगा और वह लाल पीले हो गए। इसके बाद उन्होंने वार्ड के बाहर निकलने के बाद लिफ्ट को देखा और कहा कि कहा कि यदि पुरानी लिफ्ट ठीक न हो सके तो नई लिफ्ट लगवाने के प्रयास भी तकनीकी परीक्षण के बाद किए जाए। उन्होंने कहा कि जेएएच अस्पताल में दवाओं एवं अन्य चिकित्सकीय उपकरणों के लिये धन की कमी नहीं आने दी जायेगी। जेएएच परिसर में प्रभारी मंत्री ने खासतौर पर मेडीकल वार्ड, ब्लड बैंक और कार्डियोलॉजी यूनिट, आईसीयू, इत्यादि का निरीक्षण किया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक हरिनारायणचारी मिश्रा, नगर निगम आयुक्त अनय द्विवेदी, जेएएच समूह के अधीक्षक डॉ. जे.एस सिकरवार सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

लगातार दिया जाए ध्यान

प्रभारी मंत्री ने इस दौरान जयारोग्य परिसर में मंजूर हुए सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल और एक हजार बिस्तर अस्पताल के निर्माण के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि एक हजार बिस्तर के अस्पताल के निर्माण के लिए लगातार कार्रवाई करें। यदि कोई बाधा आए तो उनके ध्यान में लाई जाए, ताकि भोपाल स्तर पर कार्रवाई की जा सके।

जल्द शुरू होगा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल

अधिष्ठाता डॉ. एस एन आयंगर ने प्रभारी मंत्री को बताया कि जल्द ही सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का शुभारंभ कराया जायेगा। जिलाधीश डॉ. संजय गोयल ने प्रभारी मंत्री को जानकारी दी कि सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का निर्माण बैंगलोर में बनाए गए देश के आधुनिकतम अस्पताल की तर्ज पर किया जाएगा। महाविद्यालय के क्लासरूम आदि सहित अन्य अधोसंरचनागत कार्यों के लिये जनभागीदारी योजना से भी राशि मुहैया कराई जायेगी।

Updated : 2016-04-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top