Latest News
Home > Archived > मकान की छत ढहने से तीन सगी बहिनों की दर्दनाक मौत

मकान की छत ढहने से तीन सगी बहिनों की दर्दनाक मौत

मकान की छत ढहने से तीन सगी बहिनों की दर्दनाक मौत
X

मकान की छत ढहने से तीन सगी बहिनों की दर्दनाक मौत


मथुरा। शहर की घनी आबादी वाले क्षेत्र कुशक गली में स्थित एक मकान की छत मध्य रात्रि में भरभरा कर गिर जाने से तीन सगी बहिनों की दर्दनाक मौत हो गयी जबकि उनके दो भाई गंभीर रूप से घायल हो गये। जिनकी दशा चिंताजनक बतायी जा रही है। कांग्रेसी नेता के परिवार के साथ हुये हादसे से प्रशासन व पुलिस के अलावा आस-पास के क्षेत्र में हड़कम्प मच गया। पूरे क्षेत्र में घटना को लेकर शोक है।
शहर के गांधी पार्क के निकट स्थित कुशक गली में कांग्रेसी नेता महेश व्यास अपनी पत्नी शीला, बड़ी बेटी वंदना 27 वर्ष, अंजना 25 वर्ष, कंचन 16 वर्ष व बेटे शिवा 24 व मोहित 22 वर्ष के साथ रहते हैं। मकान काफी पुराना व जर्जर था। मंगलवार को महेश व्यास अपने काम से बाहर गये हुये थे। घर में पत्नी व बच्चे थे। पत्नी शीला अपने कमरे तथा बाकी पांचों बहिन भाई एक कमरे में सो रहे थे। रात्री करीब एक बजे धमाके की आवाज सुन शीला अपने कमरे से बाहर आयी तो वह चीखने लगी। उसके बच्चों के कमरे की छत गिर पड़ी थी। पांचों बच्चे मलबे में दबे हुये थे।
तेज आवाज सुन आस-पास के लोग भी मौके पर पहुंच गये। सूचना पर पुलिस व फायर ब्रिगेड कर्मचारी मौके पर पहुंचे। स्थानीय लोगों के साथ उन्होंने रेस्क्यू अभियान शुरू किया। करीब तीन घण्टे चले अभियान के बाद पांचों को बाहर निकाला, लेकिन हादसे में वंदना, अंजना व कंचन की मौत हो चुकी थी जबकि इनके दोनों भाई शिवा व मोहित गंभीर रूप से घायल हो गये।
सूचना पर एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी, सीओ सिटी चक्रपाणी त्रिपाठी, शहर कोतवाल संजय जायसवाल, एसओ गोविन्द नगर इन्द्रेश भदौरिया, एसओ प्रदीप कुमार भी मयफोर्स के यहां पहुंच गये। इस दर्दनाक हादसे के बाद मृतक के परिजनों के अलावा इलाके में कोहराम मच गया। पुलिस ने मृतक तीनों बहिनों के शवों का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया जहां दोनों घायल भाइयों की स्थिति गंभीर बनी हुई है।
जिलाधिकारी राजेश कुमार घायलों का हाल जानने अस्पताल पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिवार को हर सम्भव मदद दिलाने का आश्वासन दिया। सिटी मजिस्टेªट विजय सिंह ने भी घटनास्थल का दौरा करने के बाद कहा कि वार्ड बाइज हर मौहल्ले में जर्जर मकान चिन्हित करवाये जायेंगे। उन्होंने लोगों से अपील करते हुये कहा कि अपने जर्जर मकानों को सही करवायें। उनमें रहकर अपनी जिन्दगी से खिलवाड़ न करें। कहा कि यह बहुत ही दुखद हादसा था। पीड़ित परिवार की मदद की जायेगी। शहर की घनी आबादी वाले क्षेत्र में हुई इस दर्दनाक घटना से पूरे क्षेत्र में शोक की लहर है। हर कोई इस हादसे को याद कर सिरहन महसूस कर रहा है।

Updated : 2016-04-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top