Latest News
Home > Archived > भारत का पहला जटायु मंदिर अब ग्वालियर में

भारत का पहला जटायु मंदिर अब ग्वालियर में

भारत का पहला जटायु मंदिर अब ग्वालियर में
X

विधि विधान से हुई प्रतिमा की स्थापना

ग्वालियर | भारत का पहला जटायु मंदिर अब ग्वालियर में सत्यनारायण की टेकरी गेंडे वाली सड़क के समीप बनकर तैयार हो गया है। इस मंदिर में सोमवार को विधि-विधान से प्रतिमा की स्थापना के बाद से मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोला गया। मंदिर की स्थापना के पीछे नारी बचाओ एवं बेटी बचाओ का संदेश लोगों तक पहुंचाना है।

अंतर्राष्ट्रीय अभिभाषक मंच द्वारा निर्मित इस मंदिर का संकल्प समाज में महिलाओं का मान-सम्मान बढ़ाने की दिशा में लोगों को जागरुक और प्रेरित करने के उद्देश्य से लिया गया था। प्राण प्रतिष्ठा किए जाने के पहले सुबह से ही श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला शुरु हो गया है। इस अवसर पर पंडित मंगलदास चौबे, एम. के. मुदगल और मंच के अध्यक्ष विजय सिंह चौहान समेत बड़ी संख्या में लोग प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल हुए।

भारत का पहला मंदिर: चौहान
अंतर्राष्ट्रीय अभिभाषक मंच के अध्यक्ष विजयसिंह चौहान ने बताया कि इस मंदिर के बन जाने से क्षेत्र में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि यह पूरी दुनिया में पहला जटायु मंदिर बताया जा रहा है। इस संबंध में जिलाधीश डॉ. संजय गोयल के माध्यम से शासन और प्रशासन के स्तर पर पर्यटन की दृष्टि से इसको अंचल के पर्यटक स्थलों की सूची में शामिल किए जाने और प्रोत्साहित किए जाने की मांग की गई है।

Updated : 2016-04-12T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top