Latest News
Home > Archived > भारत पर विदेशी कर्ज का आंकड़ा 4802 बिलियन डॉलर रहा

भारत पर विदेशी कर्ज का आंकड़ा 4802 बिलियन डॉलर रहा

भारत पर विदेशी कर्ज का आंकड़ा 4802 बिलियन डॉलर रहा
X

भारत पर विदेशी कर्ज का आंकड़ा 4802 बिलियन डॉलर रहा

नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने बताया कि गत वर्ष के दिसम्बर माह के आखिर में भारत पर विदेशी कर्ज का बोझ कुल मिलाकर 480.2 बिलियन डॉलर रहा। मंत्रालय के अनुसार यह आंकड़ा मार्च 2015 के आखिर में दर्ज विदेशी कर्ज के मुकाबले 4.9 बिलियन डॉलर ज्यादा है। वित्त मंत्रालय का आर्थिक मामलों का विभाग हर साल सितम्बर एवं दिसम्बर के आखिर में समाप्त होने वाली तिमाहियों के लिए भारत के विदेशी कर्ज के आंकड़े एकत्रित कर उसे जारी करता है।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार, दीर्घकालिक कर्जों जैसे वाणिज्यिक उधारी और एनआरआई जमाओं में बढ़ोतरी के चलते ही इस दौरान भारत पर विदेशी कर्ज का बोझ बढ़ गया। हालांकि, क्रमिक रूप से गत वर्ष के दिसम्बर माह के आखिर तक भारत के कुल विदेशी कर्ज में सितम्‍बर 2015 के आखिर के स्‍तर से 1.2 बिलियन डॉलर की गिरावट आई। दिसम्‍बर, 2015 के आखिर में दीर्घकालिक कर्ज 398.6 बिलियन डॉलर का रहा, जो मार्च 2015 के आखिर में दर्ज दीर्घकालिक कर्ज के मुकाबले 8.8 बिलियन डॉलर ज्‍यादा है। भारत के अल्पकालिक विदेशी कर्जों में 4.6 फीसदी की कमी देखने को मिली और दिसम्बर, 2015 के आखिर में यह 81.6 बिलियन डॉलर रहा।

जानकारी हो कि कुल विदेशी कर्ज में रियायती कर्ज का अनुपात गत वर्ष के दिसम्बर माह के आखिर में 8.7 फीसदी रहा। भारत के विदेशी मुद्रा भंडार ने कुल विदेशी कर्ज को 73.0 का कवर उपलब्‍ध कराया, जो मार्च 2015 की तुलना में 67.5 फीसदी था। विदेशी मुद्रा भंडार के प्रति अल्पकालिक विदेशी कर्ज का अनुपात 23.3 फीसदी था, जबकि मार्च 2015 के आखिर में यह 26.7 फीसदी था।

Updated : 2016-04-01T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top