Top
Home > Archived > डीआरडीई की महिला कर्मचारी को लूटने वाले पकड़े

डीआरडीई की महिला कर्मचारी को लूटने वाले पकड़े

माल बरामद, रैकी करने के बाद दिया था वारदात को अंजाम

ग्वालियर। डीआरडीई की महिला कर्मचारी का पर्स लूटकर भागे दो लूटेरों को पुलिस ने उस समय पकड़ लिया, जब वह वारदात के इरादे से खड़े थे। पकड़े गए बदमाश चचेरे भाई हैं और पढऩे के लिए शहर में आए थे। पुलिस को इनसे पूछताछ में लूट की और वारदातों का खुलासा होने की उम्मीद है।

अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने जानकारी देते हुए बताया कि डीआरडीई की कर्मचारी हर्षना शर्मा से बैग लूटकर भागे लुटेरों को पुलिस ने पकड़ लिया है। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कैप्टन रूपसिंह स्टेडियम के पास दो बदमाश मोटर साइकिल क्रमांक एमपी 07 एमजे 4763 पर वारदात की नियत से जा रहे हैं। पुलिस ने घेराबंदी करके सनी पुत्र सत्येन्द्र सिंह तोमर और सौरभ पुत्र अशोक सिंह तोमर निवासी अम्बाह जिला मुरैना को पकड़ लिया। पकड़े गए दोनों बदमाश चचेरे भाई हैं और आदित्यपुरम में किराए से रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। सौरभ बारहवीं और सनी बीए का छात्र है। पूछताछ के दौरान बदमाशों ने बताया कि वह हर्षना की कई दिनों से रैकी कर रहे थे और मौका मिलते ही वारदात को अंजाम दे डाला। सनी और सौरभ से पुलिस ने लूट का माल बरामद कर लिया है। पुलिस को दोनों लुटेरों से अन्य वारदातों का खुलासा होने की उम्मीद है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

उधारी चुकाने के लिए की लूट
सनी व सौरभ शहर में कोचिंग पढ़ते है और इन्होंने फीस भरने के लिए उधार रुपए लिए थे। उधारी की रकम चुकाने के लिए चचेरे भाइयों लूट की वारदात को अंजाम दिया था।

यह थी घटना
पांच जनवरी को डीआरडीई की कर्मचारी हर्षना शर्मा भोपाल से आई थीं। रेल से उतरने के बाद वह ऑटो से अपने कार्यालय डीआरडीई जा रही थीं। ऑटो में बैठी हर्षना के हाथ से झपट्टा मारकर चचेरे भाइयों ने होटल ग्रेस के पास बैग लूट लिया था।

Updated : 2016-03-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top