Latest News
Home > Archived > भारत-यूरोपीय संघ सम्मेलन में शिरकत के लिए बेल्जियम पहुंचे मोदी

भारत-यूरोपीय संघ सम्मेलन में शिरकत के लिए बेल्जियम पहुंचे मोदी

भारत-यूरोपीय संघ सम्मेलन में शिरकत के लिए बेल्जियम पहुंचे मोदी
X

ब्रसेल्स | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेहद व्यस्त कार्यक्रम के तहत एक दिवसीय यात्रा के लिए आज बेल्जियम पहुंचे। वह भारत-यूरोपीय संघ सम्मेलन में शिरकत करेंगे और अपने बेल्जियन समकक्ष चार्ल्स मिशेल के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे।

पिछले सप्ताह ब्रसेल्स में हुए आतंकी हमलों को देखते हुए ऐसा तय माना जा रहा है कि इस सम्मेलन और द्विपक्षीय वार्ता दोनों में ही आतंकवाद का मुद्दा प्रमुखता से छाया रहेगा। प्रधानमंत्री मोदी ‘मेक इन इंडिया’ और ‘स्मार्ट सिटीज’ जैसे प्रमुख क्षेत्रों में यूरोपीय संघ के साथ भारत की साझेदारी को आगे बढ़ाने की कोशिश करेंगे। प्रधानमंत्री के बेल्जियम की राजधानी में पहुंचने के कुछ ही क्षण बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, सुबह-सुबह रेड कार्पेट स्वागत। ब्रसेल्स में पहुंचते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। मोदी की ब्रसेल्स यात्रा से कुछ ही दिन पहले 22 मार्च को यहां आतंकी हमला हुआ था, जिसमें एक भारतीय राघवेंद्रन गणेशन समेत कम से कम 32 लोग मारे गए। गणेशन बेंगलूरू से इंफोसिस के कर्मचारी थे।

ब्रसेल्स में 13वां भारत-यूरोपीय संघ सम्मेलन चार साल के अंतर के बाद आयोजित किया जा रहा है। पिछला सम्मेलन वर्ष 2012 में नयी दिल्ली में आयोजित किया गया था और समझौते कई प्रमुख मुद्दों को लेकर गतिरोध में अटके रहे थे। भारत और यूरोपीय संघ के बीच आतंकवाद रोधी साझेदारी को मजबूत करने के अलावा इस सम्मेलन से यह भी उम्मीद की जा रही है कि यह राइन और डेन्यूब नदियों की तर्ज पर गंगा स्वच्छता जैसी अन्य परियोजनाओं में भी दिलचस्पी जगाएगा। एक ब्लॉक के रूप में यूरोपीय संघ भारत का सबसे बड़ा व्यापार सहयोगी है। इसके साथ होने वाला यह व्यापार 126 अरब डॉलर का है। यह भारत का सबसे बड़ा निर्यात स्थल भी है। वहां 65 अरब डॉलर का निर्यात किया जाता है।

यह भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (69 अरब डॉलर) का सबसे बड़ा स्रोत है। यहां पहुंचने के कुछ ही समय बाद मोदी ने कई बैठकें करनी हैं। इनमें एक बैठक भारतीय उपमहाद्वीप का अध्ययन करने वाले विद्वानों के साथ होगी। उन्होंने यूरोपीय संसद और बेल्जियम की संसद के सदस्यों के साथ भी बैठक करनी है।

Updated : 2016-03-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top