Latest News
Home > Archived > मंगाया मोबाइल, निकलीं मूर्तियां

मंगाया मोबाइल, निकलीं मूर्तियां

पुलिस जनसुनवाई में की शिकायत

ग्वालियर | हेयर कटिंग की दुकान चलाने वाले एक युवक ने ऑनलाइन मोबाइल मंगाया था लेकिन उसके उस समय होश उड़ गए जबकि उसने पार्सल खोलकर देखा तो उसमें मोबाइल की जगह लक्ष्मी- गणेश जी की मूर्तियां रखी हुई थीं। एक और युवक को भी इसी तरह चूना लगाया गया है। दोनों युवको ने पुलिस जनसुनवाई में आवेदन देकर धोखाधड़ी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

मेला मैदान के पीछे ग्राम दुल्लपुर मे ंरहने वाले किशोर श्रीवास की हेयर कटिंग की दुकान है। किशोर के मोबाइल पर एक युवती का फोन आया और उसने सेमसंग कम्पनी का मोबाइल ऑफर के साथ महज चार हजार रुपए में देने की बात कही। किशोर ने लालच में आकर मोबाइल के लिए कह दिया, इस दौरान किशोर से युवती ने पता और पिनकोड नम्बर भी पूछा था। किशोर यह सोचकर बड़ा खुश था कि इतना मंहगा मोबाइल उसे सस्ते में ही मिल रहा है। बीते रोज किशोर के मोबाइल पर युवती का फोन आया और उसने कहा कि आपका मोबाइल आ गया पोस्ट आफिस से ले लें।

किशोर ने चार हजार रुपए के करीब रकम देने के बाद अपना पार्सल ले लिया और घर आ गया। मंहगा मोबाइल कम पैसों में मिलने से खुश किशोर ने जैसे ही पार्सल खोला उसके होश उड़ गए। पार्सल वाले डिब्बे में लक्ष्मी-गणेश जी की मूर्तियों के अलावा श्रीयंत्र रखा हुआ था। सौ रुपए का माल देकर चार हजार रुपए ठगने वालें को किशोर ने फोन लगाया तो उसने कहा कि सामान धोखे से पहुंच गया है। लेकिन एक दिन बाद भी उसके रुपए नहीं मिले। इसी तरह कम्पू पर रहने वाले अजय प्रजापति को भी ठगों ने चूना लगा दिया। चार हजार रुपए लेकर मोबाइल के स्थान पर डिब्बे में दूसरा सस्ता सामान रख दिया। ठग अपने मोबाइल से बराबर बात कर रकम लौटाने की कह रहे हैं, लेकिन पैसे वापस नही कर रहे हंै। पुलिस की जनसुनवाई में पहुचें पीडि़त अब रकम के लिए भटक रहे हैं।

भाजपा महिला पार्षद की बेटी को छेड़ा
आंतरी वार्ड क्रमांक 7 की पार्षद सहोद्राबाई माहौर की पुत्री 24 मार्च को दुकान पर बैठी थी कि तभी पड़ोस में रहने वाला जनवेद माहौर आया और पुडिय़ा मांगने लगा, मना करने पर उसने युवती के साथ छेडख़ानी कर दी। जनवेद अब सोहद्राबाई के बेटों को झूठे प्रकरण में फंसाने की धमकी देकर परेशान कर रहा है। महिला पार्षद पुलिस थाने जाती है तो उसकी कोई सुनवाई नही करता। जनवेद और उसके भाईयों के आंतक से भयभीत सोहद्राबाई मंगलवार को अपनी गुहार लेकर पुलिस अधीक्षक के पास पहुंची।

Updated : 2016-03-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top